पैंथर का शिकार कर खाल, नाखून व दांत निकाले, गड्ढा खोदकर दफनाया

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मोकलसर . पैंथर का शिकार करने के बाद चमड़ी निकालते शिकारी। - Dainik Bhaskar
मोकलसर . पैंथर का शिकार करने के बाद चमड़ी निकालते शिकारी।
  • शरीर के अंग बाहर निकालने के बाद जेसीबी मशीन से गड्ढा खुदवाकर पैंथर को दफन कर दिया
  • मामले के फोटो वायरल होने पर दैनिक भास्कर टीम ने पड़ताल की तो मामले का खुलासा हुआ

बालोतरा/मोकलसर. अरावली की पर्वतमालाओं में गत कई वर्षों से विचरण कर रहे पैंथर का शिकारियों ने शिकार कर दिया और बाद में खाल (चमड़ी), दांत व पंजे निकालकर ले लिए। शरीर के अंग बाहर निकालने के बाद मामले को अंदर ही अंदर दबाने के लिए जेसीबी मशीन से गड्ढा खुदवाकर पैंथर को दफन कर दिया। करीब 10 से 12 दिन पुराने इस मामले के फोटो वायरल होने पर दैनिक भास्कर टीम ने पड़ताल की तो मामला खंडप गांव का होना सामने आया। जिसमें युवक पैंथर का शिकार करने के बाद खाल निकालते नजर आ रहे है। इसकी जानकारी होने के बावजूद वन विभाग शिकारियों की रसूखदारी को देखते हुए मामले में दबाने में ही लगा हुआ है।

उल्लेखनीय है कि सिवाना क्षेत्र सहित आस-पास की अरावली की श्रृंखलाओं में वन्य जीव विचरण करते रहते हैं, कई बार ये जानवर घना वन क्षेत्र व पहाड़ियां होने से आस-पास के गांवों में घुस जाते हैं। इसी तरह खंडप सरहद में भी गत कई महिनों से पैंथर विचरण कर रहा था। करीब 10-12 दिन पहले शिकारियों ने मौका देखकर पैंथर का शिकार कर दिया। इसके बाद मृत पैंथर की खाल, दांत, नाखून निकालकर ले लिए, वहीं किसी को भनक नहीं लगे, इस पर जेसीबी से गड्ढा खुदवाकर दफन कर दिया। इसके फोटो सोश्यल मीडिया पर वायरल होने के बाद सामने आया कि यह मामला खंडप गांव का करीब 10-12 दिन पुराना है। इस पूरे खेल के पीछे कई रसूखदारों के हाथ शामिल है।


मृत पैंथर के साथ एवं चमड़ी हटाते कुछ फोटो दैनिक भास्कर के हाथ लगने पर इसकी पड़ताल की तो मामला खंडप सरहद का होना पाया गया। फोटो के साथ नजर आने वाले लोग एवं चमड़ी हटाते शिकारी क्षेत्र के आस-पास के गांव के ही है। शिकारियों के फोटो साफ-साफ दिखने के बावजूद वन विभाग अभी तक न तो शिकारियों तक पहुंच पाई है और न ही किसी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। इसके अलावा घायल पैंथर को ले जाने वाले ट्रेक्टर-ट्रॉली व जेसीबी मशीन को भी दस्तयाब नहीं किया गया है। 

खबरें और भी हैं...