• Home
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • Jodhpur - नाटक ‘सीढ़ी दर सीढ़ी उर्फ तुक्के पर तुक्का’ में अनपढ़ बेटे की सफलता का है चित्रण
--Advertisement--

नाटक ‘सीढ़ी दर सीढ़ी उर्फ तुक्के पर तुक्का’ में अनपढ़ बेटे की सफलता का है चित्रण

जोधपुर| ल्यू बाओरूई के चीनी लोककथा संग्रह में संकलित ‘थ्री प्रमोशन इन सक्सेशन’ पर आधारित नाटक ‘सीढ़ी दर सीढ़ी...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 04:36 AM IST
जोधपुर| ल्यू बाओरूई के चीनी लोककथा संग्रह में संकलित ‘थ्री प्रमोशन इन सक्सेशन’ पर आधारित नाटक ‘सीढ़ी दर सीढ़ी उर्फ तुक्के पर तुक्का’ में अनपढ़ बेटे की सफलता का किया चित्रण किया गया है। टाउन हॉल में मंचित इस नाटक के लेखक राजेश जोशी हैं। बंसी कौल ने निर्देशन किया है। डॉ. अंजना पुरी का संगीत है। नाटक की कहानी में एक रईस जागीरदार का अनपढ़ बेटा तुक्कु का बचपन मैदान पर खेलने और पतंग उड़ाने में ही गुजरा है। एक दिन एक नजूमी उससे पैसे एंठने के लिए कहता है कि अगर वह आला अफसरों के इम्तिहान में शामिल हो जाए तो उसका पहले तीन कामयाब अफसरों में नंबर लगना तय है। तुक्कु इस बात को सुनकर किस्मत आजमाने राजधानी पहुंचता है। जहां उसकी भेंट रात को वेश बदल कर गश्त पर निकले नवाब खामाखां से होती है। वहां अफसर गलतफहमी में उसे नवाब का आदमी समझकर इम्तिहान में कामयाब कर देता है। नाटक ऐसे ही क्रम से गुजरता है और तुक्कु की चुटकियों में मसले को हल करने की आदत से उसे सल्तनत मिल जाती है। नाटक में अभिषेक तिवारी, अंबर गुप्ता, अर्पित पांडे, दुर्गेंद्र सिंह, हर्ष, नितिन सहित कई कलाकारों ने अपनी-अपनी भूमिका के साथ न्याय किया है।