• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • कर्नाटक शैली में राग और तानों के साथ सुधा ने सुनाया मांड में मीरा का भजन
--Advertisement--

कर्नाटक शैली में राग और तानों के साथ सुधा ने सुनाया मांड में मीरा का भजन

News - स्पिक मैके की ओर से कर्नाटक गायन शैली की आर्टिस्ट व दिल्ली युवा पुरस्कार से सम्मानित सुधा रघुरामन ने अपने गायन की...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 02:30 AM IST
कर्नाटक शैली में राग और तानों के साथ सुधा ने सुनाया मांड में मीरा का भजन
स्पिक मैके की ओर से कर्नाटक गायन शैली की आर्टिस्ट व दिल्ली युवा पुरस्कार से सम्मानित सुधा रघुरामन ने अपने गायन की श्री ऑरबिंदो स्कूल में प्रस्तुति दी। उन्होंने सुर के बेस व पॉवरफुल वॉइस के साथ मध्य स्केल का प्रयोग करते हुए अपने घराने की परंपरा की बानियों और गमकयुक्त गायन शैली को खूबसूरती से पेश किया। उन्होंने नाट्यी राग व चक्रेश एक ताल में गणेश स्तुति से शुरुआत की। कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने पद रागम्, तानम्, पल्लवी में "त्रिलोचन नाथ नम: शिवा वरमु' को प्रस्तुत किया। इसमें उन्होंने शिव आराधना की प्रक्रिया व शिव की शक्ति के गुणगान को कर्नाटक शैली में खूबसूरती से प्रस्तुत किया। इस प्रकार उन्होंने गायम में राग, ताल, पद, दोहे और भजनों की क्लासिकल में प्रस्तुति किया। अगली प्रस्तुति झालामंड स्थित सेंट पॉल्स में थी। यहां उन्होंने कर्नाटक रचनाकारों के लिखे शिव और गणपति के भजनों को प्रस्तुत किया। हिंदुस्तानी और कर्नाटक शैली की विशेषताएं व विभिन्नताएं बताते हुए उन्होंने दोनों शैलियों में स्वर लगाने के तरीके भी बताए। उन्होंने साहित्यकार सूर्यकांत त्रिपाठी "निराला' की रचना "वीणा वादिनी वरदे...' को राग मोहनम में कर्नाटक शैली के साथ प्रस्तुत किया। इसके बाद मीरा का भजन "म्हाने चाकर राखो जी...' और फिर अंत में धनाश्री राग में तिल्लाना प्रस्तुत किया। दोनों जगह वे स्टूडेंट्स से इंट्रैक्ट भी हुईं और बच्चों की संगीत संबंधी जिज्ञासाओं का समाधान किया। सुधा के साथ वायलिन पर वीएसके अन्ना दुरई और मृदंग पर कुम्बा कोनम एन पद्मनाभन ने संगत दी। इस मौके स्पिक मैके की कॉर्डिनेटर ईरा सिसोदिया भी मौजूद थीं।

X
कर्नाटक शैली में राग और तानों के साथ सुधा ने सुनाया मांड में मीरा का भजन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..