• Home
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • रेजिडेंट्स चिकित्सा शिक्षा सचिव, प्राचार्य व कमिश्नर की समझाइश पर माने, बोले- नहीं करेंगे हड़ताल
--Advertisement--

रेजिडेंट्स चिकित्सा शिक्षा सचिव, प्राचार्य व कमिश्नर की समझाइश पर माने, बोले- नहीं करेंगे हड़ताल

महात्मा गांधी अस्पताल में शनिवार रात 12 बजे मरीज के परिजनों और रेजिडेंट्स के बीच हुई मारपीट की घटना के बाद...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 02:30 AM IST
महात्मा गांधी अस्पताल में शनिवार रात 12 बजे मरीज के परिजनों और रेजिडेंट्स के बीच हुई मारपीट की घटना के बाद रेजिडेंट्स द्वारा दिए 48 घंटे के अल्टीमेटम का समय पूरा होने से पहले रेजिडेंट्स ने हड़ताल पर जाने से मना कर दिया। सोमवार को सभी रेजिडेंट्स ने दो घंटे कार्य बहिष्कार किया।

बाद में करीब 10 बजे डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य से मिले, जहां प्राचार्य डॉ. अजय मालवीय व एमजीएच अधीक्षक डॉ. पीसी व्यास से विस्तृत चर्चा की। प्राचार्य ने समझाइश कर उन्हें पुलिस कमिश्नर अशोक राठौड़ व डीपीसी समीर कुमार सिंह से फोन पर गतिरोध समाप्त करने की बात कही और रेजिडेंट्स को उनसे मिलने के लिए कहा। सभी रेजिडेंट डॉक्टर पुलिस कमिश्नर ऑफिस पहुंचे। रेजिडेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. हरेंद्र भाकर ने बताया कि दो घंटे कार्य बहिष्कार के बाद प्राचार्य डॉ. मालवीय के कहने पर कमिश्नर से मिलने गए जहां उन्होंने गैर जमानती धाराओं में गिरफ्तारी व राजस्थान चिकित्सा परिचर्या व सेवाकर्मी अधिनियम, 2008 के तहत दोषियों पर मुकदमा दर्ज करने व पुलिस पर जांच के लिए डीसीपी समीर कुमार सिंह को नियुक्त करने के आदेश दिए। शाम को चिकित्सा शिक्षा सचिव आनंद कुमार किसी काम से जोधपुर आए जिनसे करीब 5 बजे सभी रेजिडेंट्स मिले और उन्होंने सभी अस्पतालों में समुचित सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए पर्याप्त सीसीटीवी कैमरे व पुख्ता सुरक्षा इंतजाम करने का ठोस आश्वासन दिया। इस पर मरीजों के हितों को सर्वोपरि रखते हुए कार्य बहिष्कार के निर्णय को स्थगित करने का निर्णय लिया है। डॉ. भाकर ने बताया कि इस पूरे मामले की आगे की कार्रवाई के लिए रेजिडेंट एसोसिएशन के सचिव डॉ. प्रकाश विश्नोई के नेतृत्व में एक टीम गठित की है।

रेजिडेंट‌्स ने सोमवार को 2 घंटे कार्य का बहिष्कार किया।