Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» कहानी संग्रह "मार्क्स में मनु ढूंढती' का लोकार्पण आज

कहानी संग्रह "मार्क्स में मनु ढूंढती' का लोकार्पण आज

पूंजीवाद, वामपंथ और दक्षिणपंथ के अलग-अलग खांचे व्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए नहीं, बल्कि अपने-अपने ढांचे में उसे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 12, 2018, 03:05 AM IST

पूंजीवाद, वामपंथ और दक्षिणपंथ के अलग-अलग खांचे व्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए नहीं, बल्कि अपने-अपने ढांचे में उसे फिट करने के लिए हैं। यदि वह फिट नहीं बैठता है तो बहिष्कृत है। इस थीम पर आधारित युवा कथाकार माधव राठौड़ के पहले कहानी संग्रह "मार्क्स में मनु ढूंढ़ती' का लोकार्पण आज होगा। संग्रह की एक कहानी में विचारधाराओं के संघर्ष से जूझती नायिका कहती है कि "वो न मार्क्स के लिए, न मनु के लिए और न ही समाज के लिए जियेगी। वो सिर्फ खुद के लिए जियेगी।' नायिका के इस कथन से लेखक ने आज के दौर में विचारधाराओं के संघर्ष के बीच व्यक्तिगत स्वतंत्रता की आवश्यकता को रेखांकित किया है।

सरदारपुरा स्थित होटल प्रतीक होटल में दोपहर 2 बजे होने वाले इस लोकार्पण समारोह में पाखी पत्रिका के संपादक प्रेम भारद्वाज मुख्य अतिथि होंगे। विशिष्ट अतिथि कवि व आलोचक डॉ. सत्यनारायण व शायर हबीब कैफ़ी होंगे जबकि अध्यक्षता हाइकोर्ट के न्यायाधीश डॉ. पुष्पेंद्र सिंह भाटी करेंगे। 20 कहानियों वाले इस कहानी संग्रह में माधव ने खाली होते गांव और महानगरों के पेचीदा हालातों पर भी कहानियां लिखी हैं।

गौरतलब है कि राठौड़ प्रगतिशील लेखक संघ और दैनिक भास्कर की ओर से हाल ही में आयोजित अखिल राजस्थान स्तर पर आयोजित प्रतियोगिता के कथेतर में पहला और कहानी में दूसरा स्थान प्राप्त किया था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×