Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» धमकाकर पिता से दिलवाई थी मासूम के स्वतः ही गिरकर मौत की रिपोर्ट

धमकाकर पिता से दिलवाई थी मासूम के स्वतः ही गिरकर मौत की रिपोर्ट

चार्जशीट के मुताबिक आरोपी प्रहलादसिंह व नरसिंह पीड़िता के घर पर आए और बोले कि बेटे घेवर सिंह ने बालिका की हत्या कर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 08, 2018, 04:00 AM IST

चार्जशीट के मुताबिक आरोपी प्रहलादसिंह व नरसिंह पीड़िता के घर पर आए और बोले कि बेटे घेवर सिंह ने बालिका की हत्या कर दी है। अब मेहरबानी करो, पुलिस कार्यवाही मत कराओ। बालिका के पिता को डरा-धमका कर जबरदस्ती सदर थाने ले गए, जहां उसे लड़की के पागल होने और उसके स्वत: ही गिरकर मौत होने की रिपोर्ट आरोपियों के दबाव में पिता ने रिपोर्ट दर्ज करवा दी। इसके बाद पीड़िता की मां ने हिम्मत जुटाई और बेटी के साथ हुए गैंगरेप, अपहरण के बाद हत्या की रिपोर्ट महिला थाने में दी। तत्कालीन डीएसपी नाजिम अली ने तीसरे दिन ही मामले में आरोपियों को गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया और पूछताछ में आरोपियों ने जुर्म कबूल कर लिया। आरोपियों की ओर से निंबड़ी के स्विमिंग पूल में फेंके गए मोबाइल बरामद भी किए गए।

2013 में बना पॉक्सो एक्ट : बाड़मेर में इस एक्ट में दर्ज होने वाला पहला मामला

फरवरी 2013 में पॉक्सो एक्ट बना था। कानून बनने के करीब एक माह बाद ही यह घटना हुई थी। बाड़मेर जिले का यह पहला पॉक्सो एक्ट में दर्ज होने वाला मामला था। उस समय पोस्को में 10 साल के कठोर कारावास और 25 हजार रुपए के अर्थदंड की सजा का प्रावधान था। अब राष्ट्रपति ने 12 वर्ष तक की बालिकाओं के साथ दुष्कर्म की घटनाओं में फांसी की सजा का प्रावधान किया है। मंगलवार को एडीजे जज वमीतासिंह फांसी की सजा के दोनों दोषियों को पहले बुलाया और उन्हें सजा सुनाई। इसके बाद तीन अन्य आरोपियों को 7-7 साल की सजा का ऐलान किया। इन्हें कहा कि सजा का ऐलान कर दिया गया, अब हाइकोर्ट में 60 दिन में अपील कर सकते हो।

ब्लैकमेलिंग करके दुष्कर्म के मामले में बहनोई गिरफ्तार

शेरगढ़
| ननिहाल गए युवक को कमरे में बंद करके ममेरे भाई द्वारा तलवार से हमला कर गंभीर रूप से घायल करने के मामले में आए नए मोड़ के तहत आरोपी बहनोई के खिलाफ एक महिला ने अश्लील वीडियो बनाकर फोटो खींचकर ब्लैक मेलिंग करके दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए शेरगढ़ पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया था। घायल आरोपी बहनोई का इलाज कराने के बाद करीब 10 दिन पूर्व अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी। इस पर शेरगढ़ थाना पुलिस ने आरोपी को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। उप निरीक्षक हुक्माराम ने बताया कि पदमगढ़ (सोलंकियातला) निवासी एक महिला ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि जाटावास (लोहावट) निवासी एक व्यक्ति के साथ उनकी बहन की शादी की हुई थी आज से करीब 4 वर्ष पूर्व उनके बहनोई ने उनके साथ पीहर लोहावट में मौका देख कर जबरदस्ती दुष्कर्म किया व उसका अश्लील वीडियो बना लिया व फोटो भी खींच लिए। उसके बाद धमकियां देकर मौका मिलता तो वह खोटा काम करता।



जब वह मना करती तो उनके पति व बच्चों को मारने व फोटो व वीडियो दूसरों को दिखाने की धमकियां देता, इससे वह डर गई। इज्जत के कारण किसी को कुछ नहीं कहा। यह जानकारी उनकी बहन को उसने दी तो उसने भी समझाने का प्रयास किया वह नहीं माना तो उनकी बहन ने मजबूरी में आत्महत्या कर ली थी उनका जीजा उसे टेलीफोन से उनको बार-बार फोन करता रहा। उनके यहां ससुराल पदमगढ़ में भी आकर कई बार जबरदस्ती उनके साथ गलत काम किया। 3 जुलाई को उनका ससुर जब लोहावट गया तो रात्रि में करीब 1 बजे सेवणियाला बाड़मेर निवासी एक व्यक्ति को साथ लेकर उनका बहनोई बोलेरो गाड़ी लेकर उनके घर में धारदार हथियार छूरी लेकर उनके कमरे में जबरदस्ती आया व आते ही छूरी दिखाकर उनके मुंह पर रूमाल से ढक कर जबरदस्ती खोटा काम करने लगा उसे चिल्लाने भी नहीं दिया। इतने में उनका पति जो छत पर सो रहा था पानी पीने के लिए नीचे आया तो उन्हें मारने की कोशिश की। आरोपी बहनोई को मंगलवार को गिरफ्तार किया। जिसको बुधवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा। गौरतलब है कि 11 जुलाई को जाटावास लोहावट निवासी एक व्यक्ति ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उनका भाई अपने ननिहाल सोलंकियातला गया था उसके ममेरे भाई द्वारा उसे कमरे में बंद करके तलवार से करीब 50 वार करके जानलेवा हमला करके गंभीर रूप से घायल करके उसे मरा हुआ समझकर घर से बाहर फेंक दिया था। जिसको मथुरादास माथुर अस्पताल जोधपुर में भर्ती कराया गया था।

चुनौती था केस, आज पीड़ित परिवार को इंसाफ मिला: जांच अधिकारी

तत्कालीन जांच अधिकारी और वर्तमान में जयपुर में एएसपी ट्रैफिक नाजिम अली ने भास्कर को बताया कि मुझे आज भी केस की एक-एक कड़ी याद है। अगल-अलग रिपोर्ट और संदेह से इस केस को सुलझाने में काफी मुश्किलें झेलनी पड़ी थीं। पिता की ओर से बेटी के स्वतः मरने की एफआईआर और मां ने दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोप लगाया। मामला पॉक्सो एक्ट का था, इसलिए जांच डीएसपी लेवल के अधिकारी को दी गई। पहाड़ी से लाश बरामद की गई थी। शातिर बदमाशों ने सबूत मिटाने के लिए पहाड़ी से लाश को गिराया था। मोबाइल भी पास के तालाब में डाल दिए। कॉल डीटेल व अन्य सबूत व साक्ष्य को जुटाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×