• Home
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • एसबीआई प्रतापनगर के दो ग्राहकों के कार्ड उनके पास थे, Rs.2.20 लाख फरीदाबाद से निकले, ब्रांच के 1 दर्जन कार्ड क्लोन का शक
--Advertisement--

एसबीआई प्रतापनगर के दो ग्राहकों के कार्ड उनके पास थे, Rs.2.20 लाख फरीदाबाद से निकले, ब्रांच के 1 दर्जन कार्ड क्लोन का शक

प्रतापनगर निवासी कारोबारी भगवानदास सुथार का एसबीआई प्रतापनगर में खाता है। 29 जुलाई रात 11:53 बजे मोबाइल पर 40 हजार...

Danik Bhaskar | Aug 08, 2018, 04:00 AM IST
प्रतापनगर निवासी कारोबारी भगवानदास सुथार का एसबीआई प्रतापनगर में खाता है। 29 जुलाई रात 11:53 बजे मोबाइल पर 40 हजार विड्रा का मैसेज आया तो वे चौंक गए। मैसेज में फरीदाबाद नीलम चौक एटीएम से राशि निकलना दर्शाया। उन्होंने बैंक हेल्पलाइन पर कॉल किया, बताया गया कि या तो एटीएम ब्लॉक करो या खाते से पैसे निकाल लिमिट ओवर करो। आधी रात को वे एटीएम गए और लिमिट ओवर का मैसेज आया तो पता चला कि खाते में 31,739 रु. ही बचे हैं। सुथार अगली सुबह बैंक पहुंचे तो पता चला कि खाते से 29-30 जुलाई को 6 ट्रांजेक्शन से 2 लाख निकल चुके हैं। सुथार ने न तो एटीएम कार्ड, खाता या ओटीपी किसी को बताया, ना ही वे फरीदाबाद ही गए।

‘एसबीआई क्विक’ बचा सकता है फ्रॉड से

एसबीआई ने एटीएम कार्ड की सुरक्षा के लिए ‘एसबीआई क्विक’ एप बनाया है। इससे मोबाइल फोन से एटीएम को ऑन-ऑफ कर सकते हैं। एटीएम मशीन, शॉपिंग के बाद पीओएस पर भुगतान करने, इंटरनेट-ई-कॉमर्स से ऑनलाइन पेमेंट विकल्प भी ऑन या आॅफ कर सकते हैं।

एसबीआई खाताधारक बैंक में खाते से मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड कराएं। प्ले स्टोर से ‘एसबीआई क्विक’ एप इंस्टाल करें। एटीएम कार्ड कॉन्फिग्रेशन करने पर सिक्युरिटी ऑन-आॅफ सुविधा शुरू होगी।

हजारों ग्राहकों के खातों पर संकट, डीजीएम बोले-डिनर कर रहा हूं, कल बात करेंगे

दैनिक भास्कर ने इस गंभीर मामले में एसबीआई का पक्ष जानने के लिए डीजीएम सुजीत कुमार से संपर्क किया। इस पर कुमार बोले कि अभी तो मैं डिनर कर रहा हूं, इस बारे में तो कल बात करेंगे।

साइबर धोखाधड़ी से बचने के लिए रखें ये सावधानियां








केस

केस

2

2

झालामंड विशाल नगर निवासी पूर्व चिकित्साकर्मी मांगीलाल मालवीय का खाता भी प्रतापनगर स्थित एसबीआई में है। 29 जुलाई रात 11:24 बजे उनके खाते से 20 हजार रु. निकलने का मैसेज मोबाइल पर आया। सुबह उन्होंने ये मैसेज देखा तो चौंक गए। वे तुरंत बैंक पहुंचे और अफसरों से पूछा तो उन्हें बताया गया कि फरीदाबाद नीलम चौक स्थित एटीएम से ये रुपए निकाले गए हैं। मालवीय ने बैंक अफसरों को बताया कि वे न तो फरीदाबाद गए हैं और न ही उनके पास कोई फोन ही आया। बैंक से जारी एटीएम कार्ड भी उनके पास ही है। बैंक में इसकी शिकायत दी गई। दो दिन मालवीय बैंक के चक्कर लगाते रहे। सोमवार को बैंक अफसरों ने कहा पुलिस में केस दर्ज कराना पड़ेगा।