• Home
  • Rajasthan News
  • Jodhpur News
  • News
  • माता-पिता के साथ कोर्ट में युवती जिस युवक के खिलाफ बयान देने आई, उसी के साथ चली गई
--Advertisement--

माता-पिता के साथ कोर्ट में युवती जिस युवक के खिलाफ बयान देने आई, उसी के साथ चली गई

एससी-एसटी कोर्ट में बुधवार को एक अजीब वाकया हुआ। पॉक्सो एक्ट के तहत एक युवक के विरुद्ध दर्ज मामले में पांच-छह महीने...

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 04:40 AM IST
एससी-एसटी कोर्ट में बुधवार को एक अजीब वाकया हुआ। पॉक्सो एक्ट के तहत एक युवक के विरुद्ध दर्ज मामले में पांच-छह महीने से अपने माता-पिता के साथ रहने वाली युवती कोर्ट में बयान देने आई, लेकिन उसने युवक के खिलाफ बयान देने की बजाय उसके पक्ष में देते हुए कहा- वह अपनी मर्जी से इस युवक के साथ गई थी और वह अब बालिग है। वह इसी युवक के साथ जाना चाहती है। जबकि कोर्ट के बाहर मौजूद माता-पिता युवती को अपने साथ ले जाने को आमादा थे। विवाद बढ़ने की आशंका की सूचना मिलने पर मौके पर पुलिस पहुंची और युवती की सहमति पर उसे युवक के साथ भेज दिया।

नागौरी गेट थाने में वर्ष 2017 में एक नाबालिग युवती को भगाकर ले जाने के आरोप में प्रकाश के विरुद्ध पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज हुआ था। युवक और युवती जयपुर होते हुए कोटा पहुंचे। वहां किराए का मकान लेकर साथ रहे और फिर मंदिर में शादी कर ली। इस बीच युवक के विरुद्ध नाबालिग लड़की को भगाने का मामला दर्ज हुआ तो उसे गिरफ्तार किया गया। इस मामले में युवक के खिलाफ चालान पेश किया गया। बुधवार को एससी-एसटी कोर्ट की पीठासीन अधिकारी अनीमा दाधीच के समक्ष विशिष्ट लोक अभियोजन हुकुमसिंह ने युवती के बयान करवाए। बयान में युवती ने कहा, उसे युवक ने जबरन नहीं भगाया, वह उसके साथ मर्जी से गई थी। सहमति से ही साथ रही। वह अब बालिग है और युवक के साथ ही जाना चाहती है। उधर, कोर्ट के बाहर खड़े माता-पिता युवती को अपने साथ ले जाने की जिद कर रहे थे। विवाद बढ़ने की आशंका पर पुलिस को इतला की गई, इस पर मौके पर पहुंची पुलिस ने युवती को उसकी सहमति से युवक के साथ भेज दिया।

युवक को चोरी के आरोप में पीटा| राजस्थान हाईकोर्ट परिसर में बुधवार को एक युवक को चोरी के आरोप में लोगों ने पकड़कर पीटा और फिर पुलिस के हवाले किया। इस युवक ने तीन-चार मोटरसाइकिल में चाबी लगाने का प्रयास किया, ऐसा करता देख कुछ अधिवक्ताओं ने उसे पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया।