• Home
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • रेजिडेंट्स ने देर रात मीटिंग कर हड़ताल नहीं करने का लिया निर्णय
--Advertisement--

रेजिडेंट्स ने देर रात मीटिंग कर हड़ताल नहीं करने का लिया निर्णय

अस्पतालों में आए दिन हो रहे झगड़े और बुधवार को एमजीएच में हुए झगड़े के बाद मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. राठौड़ ने...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 04:50 AM IST
अस्पतालों में आए दिन हो रहे झगड़े और बुधवार को एमजीएच में हुए झगड़े के बाद मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. राठौड़ ने गुरुवार को उम्मेद हॉस्पिटल की तर्ज पर ही एमडीएम अस्पताल की जनाना विंग में भी 10 बजे के बाद पुरुषों का प्रवेश नहीं देने का आदेश जारी किया। आदेश प्राप्त होते ही देर रात एमडीएमएच की जनाना विंग में तैनात गार्ड ने सभी पुरुषों को बाहर निकाल दिया, जिसके चलते वहां परिजनों ने हंगामा किया।

मेडिकल कॉलेज स्तर पर प्रशासन फेल

हाईकोर्ट की गाइडलाइन के बाद भी मेडिकल कॉलेज की उदासीनता से अस्पताल में मरीज-परिजन और रेजिडेंट्स के बीच झगड़े रुक नहीं रहे हैं। अस्पतालों में हो रहे लगातार झगड़े मेडिकल कॉलेज स्तर पर पूरे प्रशासन के फेल होने की गवाही दे रहे हैं। अस्पतालों में लगातार मारपीट हो रही है, फिर भी प्रशासन ठोस कार्रवाई की बजाय, कमेटी बनाकर इसकी इतिश्री कर रहा है। पूर्व में हुई हड़ताल के समय प्रशासन के किए वादे भी धरातल पर पूरे होते नहीं दिखाई दे रहे। मेडिकल कॉलेज प्रशासन 50 से ज्यादा उम्र वाले गार्ड को हटाने का फैसला अभी तक क्रियान्वित नहीं कर पाया। हालांकि कुछ दिन एमजीएच में बाउंसर लगाकर रेजिडेंट्स को खुश करने की कोशिश जरूर की गई। यहां तक कि हाईकोर्ट के कहने के बाद भी ‘एक मरीज के साथ एक परिजन’ की व्यवस्था लागू नहीं हो पाई। यही नहीं, मरीज के परिजनों की एंट्री कार्ड से कराने में भी कॉलेज प्रशासन असमर्थ रहा है।