Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» संतों की वाणी से बरस रहा अमृत साधकों को लगी प्रभु नाम की लत

संतों की वाणी से बरस रहा अमृत साधकों को लगी प्रभु नाम की लत

कम्युनिटी रिपोर्टर | जोधपुर चातुर्मास की महक शहर की फिज़ां में बिखर रही है। धर्मस्थलों पर संत-साध्वियां अपनी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 06, 2018, 04:50 AM IST

  • संतों की वाणी से बरस रहा अमृत साधकों को लगी प्रभु नाम की लत
    +1और स्लाइड देखें
    कम्युनिटी रिपोर्टर | जोधपुर

    चातुर्मास की महक शहर की फिज़ां में बिखर रही है। धर्मस्थलों पर संत-साध्वियां अपनी अमृत वाणी से साधकों को प्रभु नाम का महत्व समझा रहे हैं। गुरों का तालाब स्थित श्री चिंतामणि पार्श्वनाथ जैन मंदिर तीर्थ में संत लाभरुचि महाराज ने कहा, कि तपस्या से आत्मा शुद्ध होती है। इससे पापों का शमन होता है। तपस्या का उद्देश्य सुख प्राप्त करना न होकर अपने जीवन का कल्याण होना चाहिए। तप एक ज्योति है, आत्मा उस ज्योति का केंद्र है। प्रवक्ता ओमप्रकाश चौपड़ा ने बताया, कि प्रवचन सुबह 9:15 से 10:15 तक होते हैं।

    ज्ञान का पदार्पण हो तो जीवन की दिशा बदल जाती है : कमलप्रभा : डंको बाजे रे स्थानक पर साध्वी कमलप्रभा ने कहा, कि ज्ञान का पदार्पण हो तो जीवन की दिशा बदल जाती है। ज्ञान गुरु से मिलता है। गुरु ही हमें ईश्वर से साक्षात्कार करवाते हैं।

    प्रकृति एवं स्वभाव अच्छा हो तो यहीं स्वर्ग है : चिरंतन र|

    जोधपुर | संत गोविंदराम शास्त्री ने कहा, कि शिव शब्द का तात्पर्य कल्याण से जुड़ा है। वे रविवार को राम मोहल्ला में आचार्य पुरुषोत्तम दास महाराज के सान्निध्य में आयोजित चातुर्मास सत्संग समारोह में बोल रहे थे। आचार्य पुरुषोत्तम दास महाराज ने कहा, कि बालक के संस्कार मां के गर्भ से ही प्रारंभ हो जाते हैं। प्रहलाद का उदाहरण देते हुए उन्होंने बताया, कि भक्तों की माताएं भगवत भक्त रही हैं।

    गुलाब नगर में साधकों को संबोधित करते हुए संत चिरंतन र| विजय महाराज ने कहा, कि प्रकृति और स्वभाव अच्छा हो तो यहीं स्वर्ग है। धन की कीमत धूल से ज्यादा नहीं है, जबकि धर्म की महिमा को व्यक्त नहीं किया जा सकता है। प्रवक्ता गणपत सालेचा ने बताया, कि शांतिधारा तप के 71 तपस्वियों के सामूहिक बियासने सालेचा गणपतचंद, उत्तमचंद द्वारा करवाए गए।

  • संतों की वाणी से बरस रहा अमृत साधकों को लगी प्रभु नाम की लत
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×