• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • भगवान जगन्नाथ ट्रेन के विशेष कोच में पुरी के लिए रवाना, भक्तों ने भारी मन से दी विदाई
--Advertisement--

भगवान जगन्नाथ ट्रेन के विशेष कोच में पुरी के लिए रवाना, भक्तों ने भारी मन से दी विदाई

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2018, 04:50 AM IST

Jodhpur News - संतों के सान्निध्य में शोभायात्रा गांधी मैदान से रवाना होकर रेलवे स्टेशन पहुंची। पुरी के लिए रवाना होने से पहले...

भगवान जगन्नाथ ट्रेन के विशेष कोच में पुरी के लिए रवाना, भक्तों ने भारी मन से दी विदाई
संतों के सान्निध्य में शोभायात्रा गांधी मैदान से रवाना होकर रेलवे स्टेशन पहुंची। पुरी के लिए रवाना होने से पहले जगन्नाथ, बलराम और सुभ्रदा को विशेष कोच में बिठाया गया।

कम्युनिटी रिपोर्टर | जोधपुर

गांधी मैदान। भक्ति रस महोत्सव का 11वां दिन। श्रद्धालुओं का हुजूम। हर आंख में आंसू। आस्था के नीर से मैदान जैसे भीग गया। भक्त हाथ जोड़कर हरि बोल हरि बोल के जयकारे लगा रहे थे। शनिवार को हर पल जैसे किसी के जाने से खामोश थे। प्रभु से बिछडऩे की बेला में हर कोई उदास। उत्सव की कड़ी में अब जगन्नाथ भगवान के विदाई के क्षण बहुत भारी पड़ रहे थे। भावुक मन बिछोह का दर्द सह नहीं पा रहा था। दोपहर में भगवान जगन्नाथ, बलराम और सुभद्रा को पुरी जाने वाली ट्रेन के विशेष कोच में बिठाकर विदाई दी।

इससे पहले गांधी मैदान से शोभायात्रा निकाली गई। इसमें जगन्नाथ, बलराम और सुभद्रा के प्रतीकात्मक रूपों को पालकी में विराजमान कर बैंडबाजों की मधुर स्वर लहरियों के साथ सरदारपुरा बी रोड, गोल बिल्डिंग, जालोरी गेट से होकर रेलवे स्टेशन पहुंचाया गया। मार्ग में श्रद्धालु सुरीले भजनों पर नाचते गाते चल रहे थे। महिलाएं भी बड़ी संख्या में शामिल हुई। शोभायात्रा महंत रामप्रसाद महाराज व राधाकृष्ण महाराज के सान्निध्य में निकाली गई, जिसमें कई संत शामिल थे। जैसे ही ट्रेन रवाना हुई श्रद्धालु भारी मन से हाथ हिलाकर विदाई देने लगे। वे तब तक वहां खड़े रहे जब तक ट्रेन आंखों से ओझल नहीं हुई।

संतों के सान्निध्य में शंखनाद और पुष्प वर्षा के बीच गांधी मैदान से निकली शोभायात्रा रेलवे स्टेशन पहुंची, जयकारों के बीच भगवान जगन्नाथ, बलराम और सुभद्रा को कोच में बिठाया

प्रभु की बाल क्रीड़ाओं और अठखेलियों से गूंजा पंडाल

भगवान आज भरेंगे 56 करोड़ का मायरा

भक्ति रस महोत्सव में नानी बाई रो मायरा कथा के तहत रविवार को छप्पन करोड़ का मायरा खुद भगवान भरेंगे। महंत रामप्रसाद महाराज ने कहा, कि भगवान दयालु और कृपालु होते हैं। वे अपने भक्तों से कभी दूर नहीं जाते। नरसिंह मेहता की भक्ति से प्रसन्न होकर भगवान ने कदम-कदम पर उनका साथ दिया। इसी प्रसंग का रविवार को वर्णन होगा।

सांझ ढलने के बाद गांधी मैदान में ग्वाल बाल का महोत्सव आयोजित किया गया। संगीतमय भजनों की सरिता के बीच नन्हे-मुन्ने कृष्ण रूपों में शामिल हुए। प्रभु की बाल क्रीड़ाओं और अठखेलियों से पंडाल गूंज उठा। भक्तों ने इस दृश्य का लुत्फ उठाया।

भगवान जगन्नाथ ट्रेन के विशेष कोच में पुरी के लिए रवाना, भक्तों ने भारी मन से दी विदाई
भगवान जगन्नाथ ट्रेन के विशेष कोच में पुरी के लिए रवाना, भक्तों ने भारी मन से दी विदाई
X
भगवान जगन्नाथ ट्रेन के विशेष कोच में पुरी के लिए रवाना, भक्तों ने भारी मन से दी विदाई
भगवान जगन्नाथ ट्रेन के विशेष कोच में पुरी के लिए रवाना, भक्तों ने भारी मन से दी विदाई
भगवान जगन्नाथ ट्रेन के विशेष कोच में पुरी के लिए रवाना, भक्तों ने भारी मन से दी विदाई
Astrology

Recommended

Click to listen..