--Advertisement--

कम्यूनिकेशन के साथ मानव इंटरफेस आवश्यक : वडेरा

सिटी रिपोर्टर. जोधपुर | किसी भी प्रकार के कम्यूनिकेशन के साथ मानव इंटरफेस आवश्यक है और कॉमनसेंस व वास्तविक ज्ञान...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 04:55 AM IST
सिटी रिपोर्टर. जोधपुर | किसी भी प्रकार के कम्यूनिकेशन के साथ मानव इंटरफेस आवश्यक है और कॉमनसेंस व वास्तविक ज्ञान को कम्यूनिकेशन के साथ जोड़ा जाए तो उसका प्रभावित रूप से उपयोग हो सकेगा। ये बात रक्षा प्रयोगशाला के निदेशक डाॅ. एसआर वडेरा ने गुरुवार को इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स लोकल सेंटर की ओर से कृत्रिम बुद्धि के सकारात्मक उपयोग को सक्षम बनाने के विषय पर आधारित विश्व दूरसंचार और सूचना समाज दिवस पर आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि कही।

विशिष्ट अतिथि एमबीएम इंजीनियरिंग कालेज के डीन प्रो. एसएस मेहता ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के सकारात्मक उपयोग व परिणामों पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे एयरपोर्ट आॅथाेरिटी आॅफ इंडिया के निदेशक जीके खरे ने भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की उपयोगिता बताई। संयोजक प्रो. राजेश भदादा व इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स के मानद सचिव प्रो. अखिल रंजन गर्ग ने बताया कि इसमें दूरसंचार और सूचना समाज के बारे में विस्तृत चर्चा की गई तथा आमजन को दूरसंचार व सूचना तथा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के सकारात्मक उपयोग को सक्षम बनाने के बारे में बताया गया। विभिन्न कॉलेजों में अध्ययनरत विद्यार्थियों व शिक्षकों ने पोस्टर प्रस्तुतीकरण, डिबेट कॉम्पीटिशन व माॅडल प्रदर्शन जैसी प्रतियोगिताओं में भाग लिया।