• Home
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • शरीर में छिपा पॉवर जागृत हों तो कुछ भी असंभव नहीं: परम आलय
--Advertisement--

शरीर में छिपा पॉवर जागृत हों तो कुछ भी असंभव नहीं: परम आलय

शरीर में छिपा पॉवर जागृत हों तो कुछ भी असंभव नहीं: परम आलय सिटी भास्कर| जोधपुर जोधपुराइट्स की हैल्थ को शरीर,...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 04:55 AM IST
शरीर में छिपा पॉवर जागृत हों तो कुछ भी असंभव नहीं: परम आलय

सिटी भास्कर| जोधपुर

जोधपुराइट्स की हैल्थ को शरीर, मन और चेतना के प्रयोगों के द्वारा बेहतर करने रेलवे स्टेडियम ग्राउंड में आज से सन टू ह्यूमन मेडिटेशन कैंप एक बार फिर से शुरू होने जा रहा है। कैंप में सुबह 6 बजे से 8 बजे और शाम 6:30 बजे से 8:30 बजे के दो सत्र होंगे। सुबह के सत्र में जहां पार्टिसिपेंट्स को शारीरिक ऊर्जा वाले प्रयोग करवाए जाएंगे तो शाम को वीडियो के जरिए शरीर के गूढ़ सूत्रों को बताया जाएगा। कैंप के लिए जोधपुर पहुंचे सन टू ह्यूमन के मुख्य सूत्रधार परम आलय का कहना है कि धरती पर स्थित सभी जीवों में मनुष्य का शरीर सबसे शक्तिशाली मशीन है, लेकिन इसके बावजूद भी वह सबसे घटिया जीवन जी रहा है। उनका कहना है कि लोगों को उनके शरीर का बाहरी ज्ञान ही नहीं है तो भीतरी ज्ञान कहां से होगा? परम आलय का कहना है कि शरीर में छुपी शक्तियां जाग्रत हो जाए तो कोई कार्य असंभव नहीं है। कैंप से रिलेटेड अधिक जानकारी मोबाइल नंबर 7073532233 व 8827453884 पर संपर्क किया जा सकता है।

दैनिक भास्कर की मीडिया पार्टनरशिप में रेलवे स्टेडियम ग्राउंड में आज से शुरू होगा सन टू ह्यूमन मेडिटेशन कैंप

भौतिक शरीर, मन और चेतना के होंगे प्रयोग

सन टू ह्यूमन की मां मीरा ने बताया कि पार्टिसिपेंट्स को पहले तीन भौतिक शरीर से संबंधित प्रयोग कराए जाएंगे और उसी अनुसार भोजन दिया जाएगा। इन प्रयोगों से तीसरे दिन प्रतिभागी स्वयं अपने शरीर के 80 प्रतिशत जल की जगी हुई शक्तियों की अनुभूति कर सकेंगे। अगले तीनों दिन मन से संबंधित प्रयोग होंगे जिसमें मन के विभिन्न आयामों और इसकी क्रियाविधि से संबंधित प्रयोग होंगे। छठवें दिन अग्नि का प्रयोग होगा जिसकी अनुभूति व्यक्ति स्वयं महसूस कर सकेगा। मन के प्रयोगों के बाद अगले तीन दिनों में चेतना से संबंधित प्रयोग कराये जाएंगे। परमआलय ने बताया कि कैंप के आखिरी दिन विभिन्न प्रयोगों से जाग्रत हुई ऊर्जा को सूर्य मिलन व चंद्र मिलन साधना से रोकना सिखाया जाएगा। परमआलय का कहना है कि यदि मनुष्य के शरीर की छुपी हुई शक्तियां जाग्रत हो जाए तो उसके लिए कोई कार्य असंभव नहीं है।

कैंप में साथ लाना होगा यह सामान

पार्टिसिपेंट्स को अग्नि को सिद्ध करने के लिए एक कटोरी में थोड़े से गेहूं, जल के लिए छोटा-सा तांबे का लोटा, अग्नि के लिए घी का दीपक हर व्यक्ति को अपने साथ जरूर लाना है। साथ ही सूर्य के अनुकूल होने के प्रयोग में सहयोगी सुबह का नाश्ता एवं शाम को पेय पदार्थ दिए जाएंगे। इसके लिए थाली, गिलास, किचन नाइफ, नैपकिन पानी की बोतल साथ लाना है। मां गार्गी ने बताया कि कैंप में पुरुष व महिलाएं सफेद या लाइट कलर के कपड़े पहनकर आएं।