• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • राम आध्यात्मिक पुरुष और देश के आदर्श हैं : संत हरिराम शास्त्री
--Advertisement--

राम आध्यात्मिक पुरुष और देश के आदर्श हैं : संत हरिराम शास्त्री

‘श्री रामायण दर्शनम, भारत माता सदनम’ पुस्तक का लोकार्पण कम्युनिटी रिपोर्टर. जोधपुर| राम केवल आध्यात्मिक...

Dainik Bhaskar

Aug 05, 2018, 04:55 AM IST
‘श्री रामायण दर्शनम, भारत माता सदनम’ पुस्तक का लोकार्पण

कम्युनिटी रिपोर्टर. जोधपुर| राम केवल आध्यात्मिक पुरुष ही नहीं, बल्कि भारत के आदर्श भी हैं। आज विकृत समाज को सुसंस्कृत करने के लिए श्रीराम व रामायण के आदर्शाें को जन-जन तक पहुंचाने की जरूरत है। ये विचार चांदपाेल स्थित बड़ा रामद्वारा के संत हरिराम शास्त्री महाराज ने शनिवार को विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी की जोधपुर शाखा की ओर से आयोजित ‘श्री रामायण दर्शनम, भारत माता सदनम’ पुस्तक के लोकार्पण समारोह में व्यक्त किए।

उन्होंने कहा, कि रामायण के माध्यम से पारिवारिक आदर्श को संपूर्ण विश्व के सामने रखने का कार्य वाल्मीकि तथा बाद में गोस्वामी तुलसीदास ने किया। आज जिस प्रकार का विघटन समाज में देखने को मिल रहा है, उसका एकमात्र उपाय रामायण को आत्मसात करना है। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि आरएएस के सह सरकार्यवाह मुकुंद ने कहा, कि स्वामी विवेकानंद ने भारत के सामने सीता माता को स्त्री आदर्श के रूप में रखा था। हमें भी इसी भाव से सभी माताओं का सम्मान करना चाहिए। वर्तमान में हमारे जीवन में भारत माता को सबसे उच्च स्थान पर देखना चाहिए।

विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी की राष्ट्रीय संयुक्त महासचिव रेखा दीदी ने कन्याकुमारी में बनाए गए रामायण दशनम भवन की जानकारी दी। राजस्थान प्रांत के सह प्रांत संचालक प्रोफेसर भवानीलाल माथुर तथा नगर संचालक महेंद्र लोढ़ा भी कार्यक्रम में उपस्थित थे। केंद्र के हिंदी प्रकाशन विभाग के प्रमुख अशोक माथुर ने पुस्तक का विस्तृत परिचय दिया। राजस्थान प्रांत संगठक कुमार प्रांजलि येरिकर ने भी संस्कृत गीत प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में प्रोफेसर ओपीएन कल्ला, प्रो. रामगोपाल, संघ के नंदलाल व्यास, खूबचंद खत्री, निर्मल गहलोत, चंद्रप्रकाश अरोड़ा, प्रेमरतन सोतवाल, नंदकिशोर प्रजापत, कृष्ण बोराणा, सुनील दत्त, पुष्पादेवी, भजनलाल व दानाराम सितारा सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे। संचालन डॉ. अमित व्यास ने किया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..