Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» बादलों को नमी नहीं मिलने से रुकी बारिश, 10 के आस-पास संभावना

बादलों को नमी नहीं मिलने से रुकी बारिश, 10 के आस-पास संभावना

शहर सहित संभाग के अधिकांश हिस्सों में लगातार बादलों की आवाजाही के बाद भी बारिश नहीं हो पा रही है। सावन में बारिश की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 06, 2018, 04:56 AM IST

बादलों को नमी नहीं मिलने से रुकी बारिश, 10 के आस-पास संभावना
शहर सहित संभाग के अधिकांश हिस्सों में लगातार बादलों की आवाजाही के बाद भी बारिश नहीं हो पा रही है। सावन में बारिश की काफी उम्मीद रहती है। अभी तक जुलाई माह में एक अच्छी बारिश हुई है। इस बार मौसम विभाग की संभावनाओं को देखते हुए लग रहा है कि अगले कुछ दिन और बारिश की उम्मीद नहीं है। सावन आधा बीतने के बाद यानि अमावस्या के आस पास बारिश आने की संभावनाएं दिखाई दे रही है। जुलाई के आखिरी दिनों में ऊपरी हवाओं के चक्रवात बने, लेकिन शहर की तरफ नहीं आ पाए। जोधपुर में बादल होने के बावजूद नमी नहीं मिली और बारिश नहीं हो पाई। नॉर्थ-ईस्ट में बना ऊपरी हवाओं का चक्रवात उत्तरप्रदेश की तरफ से हाेते हुए, नेपाल की तरफ निकल गया। वहीं इससे पूर्व मध्यप्रदेश की तरफ बने ऊपरी हवाओं के चक्रवात भी जयपुर से होते हुए दिल्ली की तरफ निकल गए।

मिजाज-ए-मौसम

शहर में बरसात का दौर थम गया है, हालांकि मेघ जरूर छाए हुए हैं, बादलों के बावजूद बारिश नहीं होने की पहेली सुलझाती खबर

बादलों के बावजूद इसलिए नहीं होती बारिश

मौसम विभाग के विज्ञानी गोविंदराम सीरवी ने बताया कि जोधपुर में लगातार बादलों की आवाजाही है, लेकिन बारिश नहीं हो रही है। कारण यही है कि ऊपरी हवाओं के चक्रवात से नमी मिलने के बाद बारिश वाले क्षेत्र में कम दबाव का क्षेत्र बनता है तथा इसके बाद ही बारिश हो पाती है। लेकिन जब नमी नहीं मिलती तो कम दबाव का क्षेत्र विकसित नहीं होता और बादल होने के बावजूद बारिश नहीं होती।

अरब सागर से मिली नमी तो 2 दिन में बूंदाबांदी संभव

देश के नॉर्थ ईस्ट की तरफ एक ऊपरी हवाओं का चक्रवात बन रहा है। इससे जोधपुर व आसपास 10 अगस्त के आसपास बारिश की संभावनाएं बनेंगी। वहीं इस चक्रवात के साथ यदि अरब सागर से भी जोधपुर की तरफ नमी बढ़ी तो अगले दो दिनों में बूंदाबांदी व बौछारों की संभावनाएं बनेगी। 10 के बाद तो जोधपुर में अच्छी बारिश की संभावनाएं हैं।

रविवार दोपहर में भी आकाश में काले बादल छाए रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×