Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» कुछ जगह बूथ ही नहीं खुले, तो कई जगह बीएलओ नहीं आए

कुछ जगह बूथ ही नहीं खुले, तो कई जगह बीएलओ नहीं आए

विधानसभा चुनाव के लिए निर्वाचन आयोग की ओर चलाए गए वोटर लिस्ट में नाम जोड़ने के लिए द्वितीय विशेष संक्षिप्त...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 13, 2018, 05:00 AM IST

कुछ जगह बूथ ही नहीं खुले, तो कई जगह बीएलओ नहीं आए
विधानसभा चुनाव के लिए निर्वाचन आयोग की ओर चलाए गए वोटर लिस्ट में नाम जोड़ने के लिए द्वितीय विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम चलाया गया है। इसके तहत गत 31 जुलाई को प्रकाशित ड्राफ्ट वोटर लिस्ट में जोड़े गए नाम की दावे व आपत्तियां सुनी जानी थी। इसके लिए राजनीतिक दलों को दावे व आपत्तियां प्रस्तुत करने के लिए बूथ पर बुलाया गया था। लेकिन जोधपुर शहर तथा सरदारपुरा विधानसभा क्षेत्र में कई बूथों पर बीएलओ ही नहीं पहुंचे तो कुछ स्थानों पर एलडीसी परीक्षा होने के कारण बूथ ही नहीं खुल पाए। रातानाडा सुभाष चौक स्थित लाल बहादुर शास्त्री स्कूल का ताला ही नहीं खुला। इसमें शहर विधानसभा क्षेत्र के चार बूथ बने हुए हैं। शहर विधानसभा क्षेत्र के निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण अधिकारी जवाहर चौधरी ने बताया कि कई बूथों पर बीएलओ के नहीं पहुंचने की शिकायतें मिली हैं। साथ ही शहर की 98 स्कूलों में एलडीसी परीक्षा के केंद्र होने के कारण भी दावे व आपत्तियां नहीं ली जा सकी। अब 19 अगस्त को दावे व आपत्तियां ली जाएगी। कलेक्टर डॉ. रविकुमार सुरपुर ने सरदारपुरा-127 के 28 भागों के मतदान केंद्रों का निरीक्षण कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

रातानाडा स्थित लाल बहादुर शास्त्री स्कूल में भी बूथ बनना था, लेकिन यहां का ताला ही नहीं खुला।

बूथों पर ड्राफ्ट वोटर लिस्ट नहीं

विधानसभा चुनाव के लिए जिस ड्राफ्ट वोटर लिस्ट का प्रकाशन किया गया था, उसे बूथों पर रखा जाना था। इसके लिए राजनीतिक दलों को बुलाया गया था। शहर विधानसभा क्षेत्र के बूथ संख्या 117, 118, 150, 151, व 152 में पुरानी वोटर लिस्ट ही उपलब्ध थी। ऐसे में जिन वोटर्स के नाम जोड़े गए थे उनका नाम नहीं मिला। वहीं ड्राफ्ट वोटर लिस्ट में कई पुराने नाम भी नहीं देखे जा सके तो आपत्तियां भी नहीं बताई गई। इसी तरह सरदारपुरा विधानसभा में बूथ संख्या 110, 111, 112, 90, 85 तथा लाल मैदान स्कूल के बूथों पर बीएलओ नहीं थे और ड्राफ्ट लिस्ट नहीं थी। प्रदेश कांग्रेस के पूर्व सचिव अनिल टाटिया ने बताया कि बीएलओ नहीं होने और पुरानी लिस्ट की शिकायत के लिए शहर विधानसभा क्षेत्र के कंट्रोल रूम 0291-2650308 पर कॉल करने पर रिसीव नहीं किया गया।

ग्राम सभा में नहीं पहुंचे बीएलओ

कुड़ी ग्राम पंचायत में ग्राम सभा आयोजित की गई। इसमें बीएलओ के नहीं पहुंचने से मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण का कार्य नहीं हो सका। कुड़ी ग्राम पंचायत में मात्र 6 बीएलओ ही पहुंचे, जिससे जनप्रतिनिधियों में रोष व्याप्त हो गया। कुड़ी ग्राम पंचायत के सरपंच देवीसिंह सिसोदिया व सत्यनारायण पालीवाल ने बताया कि जो बीएलओ मतदाता सूची के लिए आयोजित की गई ग्रामसभा में नहीं पहुंचे हैं, उनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई का प्रस्ताव पारित करके आगे भिजवाया है।

बूथों पर ड्राफ्ट वोटर लिस्ट नहीं

विधानसभा चुनाव के लिए जिस ड्राफ्ट वोटर लिस्ट का प्रकाशन किया गया था, उसे बूथों पर रखा जाना था। इसके लिए राजनीतिक दलों को बुलाया गया था। शहर विधानसभा क्षेत्र के बूथ संख्या 117, 118, 150, 151, व 152 में पुरानी वोटर लिस्ट ही उपलब्ध थी। ऐसे में जिन वोटर्स के नाम जोड़े गए थे उनका नाम नहीं मिला। वहीं ड्राफ्ट वोटर लिस्ट में कई पुराने नाम भी नहीं देखे जा सके तो आपत्तियां भी नहीं बताई गई। इसी तरह सरदारपुरा विधानसभा में बूथ संख्या 110, 111, 112, 90, 85 तथा लाल मैदान स्कूल के बूथों पर बीएलओ नहीं थे और ड्राफ्ट लिस्ट नहीं थी। प्रदेश कांग्रेस के पूर्व सचिव अनिल टाटिया ने बताया कि बीएलओ नहीं होने और पुरानी लिस्ट की शिकायत के लिए शहर विधानसभा क्षेत्र के कंट्रोल रूम 0291-2650308 पर कॉल करने पर रिसीव नहीं किया गया।

ग्राम सभा में नहीं पहुंचे बीएलओ

कुड़ी ग्राम पंचायत में ग्राम सभा आयोजित की गई। इसमें बीएलओ के नहीं पहुंचने से मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण का कार्य नहीं हो सका। कुड़ी ग्राम पंचायत में मात्र 6 बीएलओ ही पहुंचे, जिससे जनप्रतिनिधियों में रोष व्याप्त हो गया। कुड़ी ग्राम पंचायत के सरपंच देवीसिंह सिसोदिया व सत्यनारायण पालीवाल ने बताया कि जो बीएलओ मतदाता सूची के लिए आयोजित की गई ग्रामसभा में नहीं पहुंचे हैं, उनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई का प्रस्ताव पारित करके आगे भिजवाया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×