• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • दोस्तों के दिन को दोस्तों के साथ दोस्ती के नाम करने को बेताब रहे युवा
--Advertisement--

दोस्तों के दिन को दोस्तों के साथ दोस्ती के नाम करने को बेताब रहे युवा

जोधपुर| दोस्तों के साथ टाइम स्पैंड करना किसे पसंद नहीं होता और जब डे ही दोस्तों का हो तो कोई कैसे चूक सकता था।...

Dainik Bhaskar

Aug 06, 2018, 05:00 AM IST
दोस्तों के दिन को दोस्तों के साथ दोस्ती के नाम करने को बेताब रहे युवा
जोधपुर| दोस्तों के साथ टाइम स्पैंड करना किसे पसंद नहीं होता और जब डे ही दोस्तों का हो तो कोई कैसे चूक सकता था। फ्रेंडशिप डे पर रविवार को सिटी के पार्क्स, पिकनिक स्पॉट्स, फूड स्पॉट्स और थिएटर्स जैसी जगहों पर दोस्तों की टोलियां ही दिखाई दे रही थीं। इनमें भी ज्यादातर यूथ थे जो इस दिन को अपने दोस्तों के साथ सेलिब्रेट कर रहे थे। इन्हीं में से कुछ ग्रुप्स से जब सिटी भास्कर ने बात की तो दोस्ती के कई किस्से निकल आए।

साथ पढ़े-बढ़े, लाइफ में सैटल हुए, फ्रेंडशिप डे पर मिले तो फिर पुरानी जिंदगी जी लिए...

नर्सरी से कॉलेज तक की दोस्ती, साथ मनाया यादगार दिन- नर्सरी से कॉलेज तक चला आ रहा दोस्ती का रिश्ता- खिलखिलाती गर्ल्स के इस ग्रुप ने नर्सरी से कॉलेज तक साथ पढ़ाई की है। ये हैं रक्षिता माथुर, दिव्या लालवानी, कोमल कलवानी, ऋतु कलवानी, हिमांगी महाजन, कोमल लालवानी, दिव्या माथुर, तनिषा माथुर और लवली बेरवानी हैं। फ्रेंडशिप डे मनाने के लिए ये संडे को शास्त्री सर्किल पर एकत्र हुईं। पुरानी यादों का पिटारा खुला, हंसी-चुहल के साथ खूब गेम्स भी खेले। सर्किल के चारों ओर सजने वाले फूड जोन का लुत्फ भी उठाया। इन गर्ल्स का कहना है कि वे अपनी लाइफ का हर सुख-दुख आपस में शेयर करती हैं और जब भी टाइम मिलता है मौज-मस्ती के लिए निकल जाती हैं।

डांस, सेल्फी और फूड के साथ किया सेलिब्रेट

बीएससी की इन स्टूडेंट्स डॉली कल्ला, डिंपल कल्ला, तनीषा शर्मा और रितिका सिसोदिया का कहना है कि फ्रेंडशिप डे एंटरटेनमेंट का ही दूसरा नाम है। वे 6 सालों से फ्रेंड्स हैं। फ्रेंडशिप डे पर इन्होंने सिटी के पार्क व फेमस फूड स्पॉट्स पर खूब एंजॉय किया।

बिना दोस्तों के जीना ही नहीं आता

साथ स्कूलिंग और फिर कॉमर्स लेकर सेम कॉलेज से ही ग्रेजुएशन। जब भी मौका मिलता है दिनेश गोस्वामी, हितेश शर्मा, आदित्य शर्मा, श्याम सिंह और वसुदेव उपाध्याय मस्ती करने का कोई मौका नहीं छोड़ते। इन्होंने भी फ्रेंडशिप डे पर खूब एंजॉय किया।

स्कूल छूटे 8 साल हुए, हर फ्रेंडशिप डे पर मिलते हैं

ये हैं नेहा सोलंकी, मनीषा कंवर, सुशीला गुर्जर और शिल्प सोलंकी। स्कूल छोड़े 8 साल हो गए। इस समय सब अलग-अलग जगहों पर हैं। लेकिन ये हर फ्रेंडशिप डे को साथ ही सेलिब्रेट करती हैं। सुशीला ने बताया कि आज उनका आरएएस का पेपर था, जैसे ही पेपर पूरा हुआ वे दोस्तों के साथ सेलिब्रेट करने आ गईं।

सर्किल पर मिलीं पूजा प्रजापत और पूजा छाजेड़। नाम के साथ-साथ दोनों के शौक और आदतें भी सेम ही हैं। ये दोनों बेस्टीज हैं। दोनों ने एक दूसरे को फ्रेंडशिप डे पर सेम ही टीशर्ट गिफ्ट की।

दोस्तों के दिन को दोस्तों के साथ दोस्ती के नाम करने को बेताब रहे युवा
दोस्तों के दिन को दोस्तों के साथ दोस्ती के नाम करने को बेताब रहे युवा
दोस्तों के दिन को दोस्तों के साथ दोस्ती के नाम करने को बेताब रहे युवा
X
दोस्तों के दिन को दोस्तों के साथ दोस्ती के नाम करने को बेताब रहे युवा
दोस्तों के दिन को दोस्तों के साथ दोस्ती के नाम करने को बेताब रहे युवा
दोस्तों के दिन को दोस्तों के साथ दोस्ती के नाम करने को बेताब रहे युवा
दोस्तों के दिन को दोस्तों के साथ दोस्ती के नाम करने को बेताब रहे युवा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..