• Home
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • गैंगस्टर अंकित भादू पंचकूला पुलिस पर फायरिंग कर फरार
--Advertisement--

गैंगस्टर अंकित भादू पंचकूला पुलिस पर फायरिंग कर फरार

Danik Bhaskar | Aug 13, 2018, 05:06 AM IST

भास्कर न्यूज, श्रीगंगानगर/सादुलशहर

राजस्थान, पंजाब और हरियाणा पुलिस का सिरदर्द बना कुख्यात गैंगस्टर हरियाणा की पंचकूला पुलिस के हाथ लगते-लगते बच गया। पंचकूला की क्राइम ब्रांच टीम ने रविवार सुबह करीब 11:30 बजे पंजाब-राजस्थान बॉर्डर पर करड़वाला और गद्दरखेड़ा के बीच स्टेट हाईवे पर उसे घेर लिया। इस पर अंकित भादू पुलिस पर फायरिंग करता हुआ फरार हो गया। पुलिस ने 40 राउंड फायर किए लेकिन भादू को एक भी गोली नहीं लगी। बचाव में अंकित ने 8 राउंड में गोलियां चलाईं। भादू ने उसने भागते-भागते ही फोन पर मदद मांगी। क्योंकि पंजाब में पास ही उसका पैतृक गांव शेरेवाला है। पुलिस उसका पीछा कर रही थी कि वह करड़वाला गांव के बीच में से होकर भागते हुए नूरपुरा गांव को जाने वाले कच्चे रास्ते पर पहुंच गया। वहां खड़ी कार में सवार होकर वह पंजाब की ओर भाग गया। अंकित के सादुलशहर में होने की सूचना पर पुलिस सक्रिय हुई। आईजी दिनेश एमएन ने संभाग स्तरीय नाकाबंदी करवाई। 3 राज्यों की पुलिस के उसके पीछे लगने के बाद भी वह पकड़ में नहीं आया। देर रात तक सर्च जारी थी। अंकित की लोकेशन पंजाब में बताई जा रही है।

निगेटिव न्यूज


अंकित के भागने के पीछे तीन बड़े कारण




लॉरेंस गैंग का शूटर है अंकित, 15 से अधिक केस दर्ज

अंकित भादू पंजाब के मोस्टवांटेड लॉरेंस बिश्नोई गैंग का शूटर है। वह लॉरेंस की सोपू गैंग का सक्रिय सदस्य है। उस पर पंजाब, हरियाणा और श्रीगंगानगर, चूरू, सीकर, जोधपुर सहित अन्य जिलों में 15 से अधिक हत्याएं और लूट व डकैती के मुकदमे दर्ज हैं। वह दिसंबर 2017 को लालगढ़ थाना क्षेत्र के गांव बुधरवाली के पास सीआई भूपेंद्र सोनी के भांजे पंकज सोनी की हत्या और लूट तथा मई में हिस्ट्रीशीटर विनोद चौधरी उर्फ जॉर्डन की हत्या में शामिल था।


नाकाबंदी करती पुलिस। इनसेट में अंकित।