• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • तरुण की मौत का मामला, तीन दिन की पड़ताल में सुसाइड की संभावनाएं ज्यादा
--Advertisement--

तरुण की मौत का मामला, तीन दिन की पड़ताल में सुसाइड की संभावनाएं ज्यादा

Dainik Bhaskar

Aug 09, 2018, 05:10 AM IST

Jodhpur News - जोधपुर | मंडोर के आंगणवा इलाके में सोमवार सुबह जिंदा जलते तरुण की एमजीएच में मौत के मामले में पुलिस की अब तक की जांच...

तरुण की मौत का मामला, तीन दिन की पड़ताल में सुसाइड की संभावनाएं ज्यादा
जोधपुर | मंडोर के आंगणवा इलाके में सोमवार सुबह जिंदा जलते तरुण की एमजीएच में मौत के मामले में पुलिस की अब तक की जांच में आत्महत्या की संभावनाएं ज्यादा लग रही है। हालांकि, पुलिस अधिकारिक रूप से अंतिम निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले विधि विज्ञान प्रयोगशाला की रिपोर्ट का भी इंतजार कर रही है। इसके साथ ही तरुण के दोस्तों, रिश्तेदारों और परिवार के सदस्यों से भी हत्या या आत्महत्या को लेकर अलग-अलग पहलुओं पर पूछताछ कर रही है। इसके अलावा तरुण की बंद मोबाइल सिम की कॉल डिटेल भी खंगाली जा रही है। घटना के तीसरे दिन पुलिस टीमों ने तरुण के परिवार के रिश्तेदारों को साथ लेकर संबंधित इलाके में भी छानबीन की। उल्लेखनीय है कि रामसागर चौराहा के पास रहने वाले तरुण परिहार (23) पुत्र राजेंद्रसिंह के सोमवार सुबह आंगणवा इलाके में जिंदा जलने और बाद में उसकी मौत के मामले में उसके भाई ने मंडोर थाने में हत्या की आशंका जताते हुए केस दर्ज कराया था। इस प्रकरण की जांच में जुटी पुलिस ने एफएसएल विशेषज्ञों को भी मौके पर बुलवा सैंपल जुटाए थे। इनमें से पुलिस ने एक पत्थर, कुछ बटन, प्लास्टिक ट्यूब, मिट्टी के नमूने भी जांच कराने के लिए दिए थे। इसके साथ ही तरुण की चमड़ी के नमूने भी जांच के लिए भेजे गए हैं। इनकी विस्तृत जांच रिपोर्ट मिलने से यह स्पष्ट हो जाएगा कि तरुण की मौत किस ज्वलनशील पदार्थ के जलने से हुई थी। इसके साथ ही प्लास्टिक ट्यूब का इस केस से कोई संबंध है या नहीं, क्योंकि उस ट्यूब से भी किसी तरल पदार्थ की गंध आ रही थी।

मंडोर के रामसागर इलाके के रहने वाला युवक सोमवार सुबह आंगणवा इलाके में मिला था अधजली हालत में

अंगूठी और ताबीज घर पर छोड़े, बाइक की टंकी पूरी भराई, मौके पर आधी खाली कैसे?

पुलिस सूत्रों के अनुसार बुधवार को उसके परिवार वालों से पता चला कि सोमवार को सुबह घर से निकलने से पहले तरुण ने अपनी अंगूठी और ताबीज भी उतारकर घर पर ही रख दिया था। इसी तरह, पुलिस पड़ताल में यह भी सामने आया कि तरुण ने घर से निकलने के बाद नयापुरा इलाके में स्थित एक पेट्रोल पंप से अपनी बाइक की टंकी फुल कराई थी। पुलिस को मौके पर मिली तरुण की बाइक की टंकी आधी खाली मिली। इन दोनों ही कारणों से उसके खुदकुशी करने की संभावनाएं ज्यादा लग रही है।

बाइक के आगे व पीछे दो गाड़ियों का संदेह भी खत्म | घटना के बाद लोगों ने पुलिस को बताया था, कि इलाके में लगे सीसीटीवी फुटेज में तरुण की बाइक के आगे और पीछे दो गाड़ियां चल रही थी। पुलिस ने इस पहलू की भी पड़ताल की तो पता चला कि जिस गाड़ी के बारे में लोगों ने बताया था वो बाइक तरुण की नहीं थी। क्योंकि, तरुण की बाइक के पहिए ताड़ियों वाले हैं, जबकि सीसीटीवी फुटेज में दिखने वाली बाइक के एलॉय व्हील हैं। इतना ही नहीं तरुण के उस रास्ते से निकलने की बजाय गोकुलजी की प्याऊ होते हुए निकला था।

X
तरुण की मौत का मामला, तीन दिन की पड़ताल में सुसाइड की संभावनाएं ज्यादा
Astrology

Recommended

Click to listen..