जोधपुर

  • Hindi News
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • हर हाल में विम्बलडन और क्रिकेट वर्ल्ड कप देखते हैं
--Advertisement--

हर हाल में विम्बलडन और क्रिकेट वर्ल्ड कप देखते हैं

पिता- शांतिलाल पारेख शिक्षा- सिडनेहम कॉलेज, मुंबी से ग्रेजुएट परिवार- प|ी स्मिता, बेटे- सिद्धार्थ एवं आदित्य ...

Dainik Bhaskar

Aug 04, 2018, 05:15 AM IST
हर हाल में विम्बलडन और क्रिकेट वर्ल्ड कप देखते हैं
पिता- शांतिलाल पारेख

शिक्षा- सिडनेहम कॉलेज, मुंबी से ग्रेजुएट

परिवार- प|ी स्मिता, बेटे- सिद्धार्थ एवं आदित्य

क्यों चर्चा में- हाल ही में एचडीएफसी के निवेशकों ने इनकी फिर से नियुक्ति के खिलाफ वोटिंग की है।

बात 2014 की है। जोधपुर में एक शादी होने जा रही थी। दूल्हा सिद्धार्थ एक अमेरिकी लड़की क्लेयर ओ नील से शादी करने जा रहा था। देश के चुनिंदा लोग इसमें शामिल हुए थे। सिद्धार्थ और कोई नहीं एचडीएफसी प्रमुख दीपक पारेख के बड़े बेटे हैं। वह पिता की तरह एचडीएफसी में नहीं आए। वे अमेरिका में काम करते हैं। लेकिन जितने भी खास मेहमान वहां जमा हुए थे, वह दीपक के कारण थे, क्योंकि वे एचडीएफसी के चेयरमैन हैं। दूसरे बेटे आदित्य की शादी एक भारतीय-अमेरिकी से हुई है।

एचडीएफसी की स्थापना एचटी पारेख ने की है। यानी हंसमुखभाई ठाकुरदास पारेख। गुजरात के सूरत से आए और पिता के साथ मुंबई की चाल में रहते थे। हंसमुखभाई के पिता सेंट्रल बैंक के पहले कर्मचारी थे। इसके बाद भाई शांतिलाल भी चालीस वर्ष तक इसी बैंक में डिप्टी एमडी रहे, जो दीपक पारेख के पिता थे और हंसमुखभाई दीपक के चाचा थे। दीपक ने 1965 में सिडनेहम कॉलेज से ग्रेजुएशन के बाद इंग्लैंड से चार्टर्ड अकाउंटेंट की परीक्षा पास की और अर्नस्ट एंड यंग में काम करने लगे। 1987 में उनके चाचा उन्हें एचडीएफसी में ले आए। हर शनिवार ब्रिज खेलने के शौकीन पारेख वॉरेन बफे के स्पीच सुनना नहीं भूलते हैं। चॉकलेट क्रीम के बने बिस्किट खाने के शौकीन दीपक पूरी तरह से घरेलू व्यक्ति हैं। बहुत व्यस्त रहने वाले हर हालत में विम्बलडन के मैच और क्रिकेट वर्ल्ड कप के फाइनल जरूर देखने जाते हैं।

X
हर हाल में विम्बलडन और क्रिकेट वर्ल्ड कप देखते हैं
Click to listen..