• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • डीपीएस एमयूएन: 500 स्टूडेंट्स प्रतिनिधि बन करेंगे कई देशों की समस्याओं पर चर्चा

डीपीएस एमयूएन: 500 स्टूडेंट्स प्रतिनिधि बन करेंगे कई देशों की समस्याओं पर चर्चा / डीपीएस एमयूएन: 500 स्टूडेंट्स प्रतिनिधि बन करेंगे कई देशों की समस्याओं पर चर्चा

News - जोधपुर| भारत दुनिया के सबसे युवा देश के रूप में आगे बढ़ रहा है और वह भी समय दूर नहीं जब हमारी जनसंख्या किसी भी देश से...

Bhaskar News Network

Aug 11, 2018, 05:30 AM IST
डीपीएस एमयूएन: 500 स्टूडेंट्स प्रतिनिधि बन करेंगे कई देशों की समस्याओं पर चर्चा
जोधपुर| भारत दुनिया के सबसे युवा देश के रूप में आगे बढ़ रहा है और वह भी समय दूर नहीं जब हमारी जनसंख्या किसी भी देश से ज्यादा होगी। ऐसे में हमें यह समझने की जरूरत है कि जब वर्किंग पॉपुलेशन इतनी ज्यादा है तो क्या हम उन्हें आगे बढ़ने के लिए पर्याप्त मौके दे रहे हैं। जहां तक भारत की बात है, नेताओं में एथिक्स और मोरल की कमी है। भारत में अभी भी वोट बैंक के लिए जातीय राजनीति की जा रही है। स्पीकर्स ने राजनीतिक पार्टियों का उदाहरण देते हुए बताया कि कई पार्टियां संघर्ष करने वालों को मौका देने के बजाय परिवारवाद को तवज्जो दे रही हैं। यह डिस्कसन हो रहा था डीपीएस में आयोजित एमयूएन में। तीन दिवसीय इस एमयूएन में देश की विभिन्न स्कूलों के 500 से ज्यादा बच्चे विभिन्न देशों के प्रतिनिधि बनकर मुद्दों पर चर्चा करेंगे। इनमें 21 सदस्यीय दल भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद भारत का होगा जो प्रमुख सुरक्षा नीतियों पर विचार करेगा वहीं अखिल भारतीय राजनीतिक दलों का सम्मेलन के अन्तर्गत 90 सदस्यों वाली समिति भारतीय सशस्त्र बल विशेष शक्ति अधिनियम पर चर्चा करेगी। यूएन जनरल सभा के अन्तर्गत 85 सदस्यों का दल विश्व के आर्थिक मंच पर कौनसा देश किस स्थान पर खड़ा है, मनी ट्रांसफर का सुगम व सरल माध्यम कौनसा हो सकता है, आदि बिंदुओं पर चर्चा करेंगे। उद्घाटन अवसर पर संबोधित करते चीफ गेस्ट राजस्थान हाईकोर्ट के जस्टिस विनीत माथुर ने कहा कि मॉडल यूनाइटेड नेशंस का यह कांसेप्ट बच्चों के विचारों और उनकी तर्क क्षमता को डेवलप करने में काफी सहायक है। उन्होंने भारत और इसके संविधान को महान बताया। मोटिवेटर अरविंद भट्‌ट और प्रिंसिपल बीएस यादव ने प्रतिभागियों का हौसला बढ़ाया। अन्य मेहमानों में शिक्षाविद यूआर डागा, , उद्योगपति राहुल सिंघवी व दिलीप राजवी थे। हैड बॉय रोहण सिंघवी ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

प्रतिनिधियों के तर्कों को सुनते जस्टिस विनीत माथुर व अन्य अतिथिगण।

क्या है डीपीएस एमयूएन

डीपीएस एमयूएन स्टूडेंट्स को ऐसा मंच प्रदान करता है जहां स्टूडेंट्स ही सभी देशों के प्रतिनिधि बनकर एक स्थान पर इकट्ठा होकर विश्व में होने वाली समस्याओं पर विचार-विमर्श करते हैं। प्रोग्राम कॉर्डिनेटर प्रदीप पुरोहित ने बताया कि एमयूएन-2018 का लक्ष्य विश्व की प्रमुख समस्याओं पर चिंतन करना है। इस वर्ष डीपीएस एमयूएन में लोकसभा, राज्यसभा आदि के साथ-साथ तीन विशेष समितियों का गठन किया गया है। जिनमें राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद, अखिल भारतीय राजनीतिक दलों का सम्मेलन और यूएन जनरल सभा के अन्तर्गत- वाणिज्यिक और आर्थिक समिति प्रमुख है।

साइंस वीक का हुआ समापन

स्कूल में चल रहे साइंस वीक का समापन शुक्रवार को हुआ। क्लोजिंग सेरेमनी के चीफ गेस्ट शिक्षाविद् अनुभव वार्ष्णेय थे। उन्होंने स्टूडेंट्स को कठिन परिस्थितियों में हिम्मत न हारने की प्रेरणा देते हुए कहा कि जीवन में सफलता तभी मिलती है जब हम कठिन परिस्थितियों को पार करके आगे की ओर बढ़ते हैं। स्कूल निदेशक व प्रिंसिपल बीएस यादव ने कहा कि इस तरह के प्रोग्राम्स का मुख्य उद्देश्य स्टूडेंट्स को विभिन्न गतिविधियों से साइंस को समझाना है। स्कूल के साइंस समन्वयक किशोर परमार ने वोट ऑफ थैंक्स दिया।

X
डीपीएस एमयूएन: 500 स्टूडेंट्स प्रतिनिधि बन करेंगे कई देशों की समस्याओं पर चर्चा
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना