Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» "माना आप हीरा हो पर क्या पता अपनी गलतियों को सही कर कोहिनूर बन जाओ'

"माना आप हीरा हो पर क्या पता अपनी गलतियों को सही कर कोहिनूर बन जाओ'

एम्स हॉस्टल के मैस में आयोजित ओपन माइक में कविता पढ़ती आशना सचदेवा। सिटी भास्कर| जोधपुर परतंत्र रूपी इस धरती पर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 11, 2018, 05:30 AM IST

  • +1और स्लाइड देखें
    एम्स हॉस्टल के मैस में आयोजित ओपन माइक में कविता पढ़ती आशना सचदेवा।

    सिटी भास्कर| जोधपुर

    परतंत्र रूपी इस धरती पर एक देवी ने अवतार लिया,

    उड़ान हौसलों से होती 52 दिन में उनने समझाया,

    एवरेस्ट फतेह करके तुमने भारत का झंड़ा लहराया,

    जन्म लिया जिसने गरीबी में, काया में अनेकों दिक्कत थी,

    दो वक्त की रोटी कमाने

    फुटपाथों पर फिरती थी।

    एम्स जोधपुर के कुमार विश्वास कहे जाने वाले कवि विराट जब मंच से यह कविता सुनाने लगे तो सामने बैठे सैकड़ों स्टूडेंट्स मन ही मन एवरेस्ट विजेता पद्मश्री अरुणिमा सिन्हा के जज्बे को सलाम करने लगे थे। शुक्रवार को यहां ओपन माइक का आयोजन किया था जिसमें स्टूडेंट्स ने कविताओं के जरिए अपने बात की। पिछले दिनों एक स्टूडेंट्स के सुसाइड करने की घटना से चुप-चुप और खोए-खोए से रहने वाले स्टूडेंट्स वीर रस की कविताओं से जहां जोश से भर गए तो भोपाल के मनीष गुप्ता ने बॉलीवुड के गानों की अजीबियां गिनाकर खूब गुदगुदाया। इस ओपन माइक प्रोग्राम में स्टूडेंट्स ने अपने मन की बातों, उलझनों और विचारों को कविताओं के जरिए बयां किया। एम्स स्टूडेंट्स की ओर से इस सेशन का यह पहला कल्चरल इवेंट था और इसमें 17 स्टूडेंट्स ने कविताएं पढ़ीं और स्टेंडअप कॉमेडी के जरिए गुदगुदाया।

    एम्स हॉस्टल के मैस हॉल में आयोजित इस प्रोग्राम की शुरुआत आशना सचदेवा ने प्यार के पहले एक्सपीरियंस पर शायरी "काश थोड़ी देर और रुक जाते...' सुनाकर की। 2018 बैच की मधुबाला ने "मेरे अश्कों से मोहब्बत है तुझे या मुस्कराहट से मेरी नफरत है...के जरिए प्यार में होने वाली तकरार को दर्शाया तो अजमेर के साकेत दाधीच ने "परेशां जब भी होता हूं सहारे भेज देता हूं' से कॉलेज लाइफ के टेंशन-डिप्रेशन में भी पॉजिटिव बने रहने की बात कही। 2016 बैच की मेघना ने "दुआ है जिंदगी लंबी ना लगे तुम्हें, तुम पलक झपको और सदियां गुज़र जाए' कविता सुनाई। मेघना ने अपनी कविता में सुनाया.. "माना आप हीरा हो पर क्या पता अपनी गलतियों को सही कर कोहिनूर बन जाओ।'

    प्रोग्राम में एम्स जोधपुर के कुमार विश्वास कहे जाने वाले विराट ने झांसी की रानी, पद्मश्री अरुणिमा सिन्हा और पाली की उमुन खैर की बहादुरी के किस्से को अपनी वीर रस कविता में गाकर खूब तालियां बटोरी।

  • +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×