Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» इस बार जनगणना इलेक्ट्रॉनिक मोड पर, खर्च 5500 करोड़ से ज्यादा होगा

इस बार जनगणना इलेक्ट्रॉनिक मोड पर, खर्च 5500 करोड़ से ज्यादा होगा

जोधपुर | वर्ष 2021 में होने वाली जनगणना पूरी तरह से इलेक्ट्रॉनिक मोड पर होगी। खर्च भी पिछली जनगणना से दुगुना होगा,...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 02, 2018, 05:35 AM IST

जोधपुर | वर्ष 2021 में होने वाली जनगणना पूरी तरह से इलेक्ट्रॉनिक मोड पर होगी। खर्च भी पिछली जनगणना से दुगुना होगा, लेकिन इसे कम करने की अभी से जुगत शुरू कर दी गई है। इस बार तकनीक के इस्तेमाल से मानव श्रम की बचत होगी। निदेशक जनगणना एसएस सोहथा की मानें तो जनगणना से जुड़े विभाग व अधिकारी प्रत्येक तीन से चार माह में डाटा अपडेट करना शुरू कर दें तो लोगों का श्रम, समय और धन तीनों की बचत संभव है।

संभागीय आयुक्त ललित कुमार गुप्ता की अध्यक्षता में ‘भारत की जनगणना-2021’ को लेकर बुधवार को बैठक आयोजित की गई। जनगणना निदेशालय राजस्थान के निदेशक सोहथा ने बताया, कि जनगणना के आंकड़े 100 से ज्यादा फील्ड में उपयोगी होते हैं। पिछली जनगणना में 2200 करोड़ खर्च हुए थे और इस बार 5500 से 6000 करोड़ की राशि खर्च होने की संभावना है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×