जोधपुर / एफआर लगाने की एवज में 50 हजार की घूस लेने के मामले में लोहावट थानाधिकारी सुनील ताडा सस्पेंड



प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

  • जैन समाज के भूखंड किसी अन्य को बेच धोखाधड़ी के प्रकरण में कार्रवाई नहीं करने के बदले मांगे थे.एक लाख 
  • ट्रेप होने से कुछ घंटे पहले ही मध्यस्थ से ले लिए थे रुपए, दोनों ही केस में नामजद,

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2019, 10:50 AM IST

जोधपुर. लोहावट थाने में करीब सवा साल पहले दर्ज एक मामले में आरोपित के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर केस में एफआर लगाने की एवज में थानाधिकारी सुनील ताडा द्वारा 50 हजार की रिश्वत लेने की पुष्टि होने पर एसीबी ने केस दर्ज किया। इसके अगले ही दिन आईजी (जोधपुर रेंज) सचिन मित्तल ने एसआई ताडा को सस्पेंड कर दिया। साथ ही एसपी (ग्रामीण) राहुल बारहठ ने इस मामले की विभागीय जांच भी शुरू की है। उल्लेखनीय है कि एसआई ताडा को एसीबी रंगेहाथ गिरफ्तार कर पाती, उससे पहले ही उसने मध्यस्थ से रिश्वत की राशि ले ली थी, लेकिन एसीबी टीम द्वारा की गई सत्यापन की कार्रवाई में रिश्वत मांगने और मध्यस्थ से रुपए लेने की पुष्टि कर ली गई थी। 


एसीबी जालोर के उप अधीक्षक अन्नराज राजपुरोहित ने बताया कि मूलतया फलोदी के गांधी चौक निवासी अमित कुमार भट्टड़ पुत्र मोहनलाल जैन ने व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होकर शिकायत दी थी। इसमें बताया कि उसके खिलाफ लोहावट थाने में एक भूखंड को किसी अन्य को बेचने को लेकर धोखाधड़ी का मामला 12 अप्रैल 2018 को दर्ज हुआ था।

 

इसमें एफआर लगाने की एवज में लोहावट थानाधिकारी सुनील ताडा एक लाख रुपए की रिश्वत मांग रहा है। इस पर राजपुरोहित ने डीआईजी (एसीबी) सवाईसिंह गोदारा के निर्देशानुसार शिकायत का सत्यापन कराया, तो थानाधिकारी ताडा द्वारा 50 हजार रुपए की रिश्वत मांगने और मध्यस्थ लोहावट जाटावास निवासी अशोक कुमार जैन उर्फ किशोर के पास पूर्व में भट्टड़ द्वारा रखे 50 हजार रुपए ताडा द्वारा प्राप्त करने की पुष्टि हुई। इसी आधार पर एसआई ताडा और मध्यस्थ जैन के खिलाफ बिना नंबरी प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करने के लिए एसीबी मुख्यालय को भेजी गई थी। गुरुवार को एसीबी मुख्यालय से इन दोनों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया।

 
ताडा तीन-चार दिन से थाने से गायब चल रहा है 

भट्टड़ की शिकायत का सत्यापन करने के बाद एसीबी टीम ने ट्रेप प्लान बनाया। इसी आधार पर डीएसपी व एसीबी की टीम लोहावट भी पहुंच गई, लेकिन वहां पहुंचने पर ताडा गायब मिला। पड़ताल करने पर पता चला कि ताडा ने अशोक से अलसुबह ही 50 हजार रुपए ले लिए थे। अशोक एसीबी के परिवादी और थानाधिकारी दोनों का ही परिचित है। चूंकि, ताडा द्वारा रिश्वत मांगने, मध्यस्थ के घर से रिश्वत राशि लेने सहित अन्य तथ्यों की पुष्टि सत्यापन की कार्रवाई में ही हो चुकी थी, इसी आधार पर यह केस दर्ज किया गया है। एसीबी सूत्रों के अनुसार पिछले तीन-चार दिन से ताडा लोहावट थाने से किसी बहाने से गायब चल रहा है। 
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना