पाली / बेटी पैदा हुई तो सुनसान इलाके में फेंक दिया, श्वानों के नोंचने से मौत

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2019, 02:33 AM IST



Newborn daughter thrown in deserted area, death
X
Newborn daughter thrown in deserted area, death

  • एक और मां ने कोख को किया शर्मसार
  • श्वान ले जा रहे थे शव, ग्रामीणों ने देखा तो पता चली घटना

सेंदड़ा/ पाली. सेंदड़ा थाना क्षेत्र के सराधना रीको इलाके में फैक्ट्री के पास सुनसान जगह पर शनिवार सुबह एक नवजात का क्षत-विक्षत शव मिला। घटना स्थल के हालात व शव का पोस्टमाॅर्टम करने वाले डॉक्टरों की राय से माना जा रहा है कि किसी महिला ने शुक्रवार रात अथवा तड़के आठ माह की बेटी को जन्म देकर उसे फैक्ट्री के पास फेंक दिया। वहां श्वानों ने नवजात को नोचा, जिससे उसकी मौत हो गई।

 

शनिवार सुबह शव को कब्जे में लेकर पुलिस ने पोस्टमार्टम करा हिन्दू सेवा मंडल की मदद से अंतिम संस्कार कराया। नवजात के माता-पिता का पता नहीं चल पाया है। इसके बारे में जानकारी जुटाने के लिए पुलिस इलाके के सरकारी और प्राइवेट क्लीनिक के साथ निजी तौर पर प्रसव कराने वाली ग्रामीण महिलाओं से भी पूछताछ करने में जुटी है। पुलिस ने इस संबंध में मामला भी दर्ज किया है।

 

एनएच 162 पर सेंदड़ा थाना क्षेत्र के सराधना रीको एरिया में एक फैक्ट्री के पास श्वान के मुंह में नवजात के शव देख ग्रामीणों ने पत्थर फेंके और नवजात को श्वानों के चंगुल से बचाया। ग्रामीणों ने छानबीन की तो मौके पर झाड़ियों के बीच नवजात के शव के कुछ अंग व खून बिखरा हुआ मिला। इससे माना जा रहा है कि फैक्ट्री के पास झाडिय़ों में किसी ने नवजात को फेंक दिया, जिसे श्वानों ने नोच दिया। ग्रामीणों की मदद से पुलिस ने शव को बर अस्पताल में पहुंचाया, जहां पोस्टमाॅर्टम के बाद हिन्दू सेवा मंडल की मदद से नवजात बच्ची का अंतिम संस्कार किया।

 

24 दिसंबर को नाडोल गांव से पांच किमी दूर सुनसान जगह पर एक मां अपनी एक माह की बेटी को कंबल में लपेटकर झाड़ियों की बीच फेंककर चली गई थी। वहां से गुजर रहने ग्रामीणों ने उसके रोने की आवाज सुन उसे ढूंढा और अस्पताल पहुंचाया। नन्ही मासूम   सर्दी सहन नहीं कर पाई और पहले नाडोल और बाद में पाली अस्पताल पहुंचने के बाद उसने दम तोड़ दिया।

COMMENT