पाली / कांग्रेस ने बागियों को लगाया गले, पाली व बिलाड़ा से विधानसभा चुनाव लड़ चुके भाटी-झाला का निष्कासन रद्द

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2019, 10:05 AM IST



प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।
  • comment

  • विधानसभा चुनाव में बागी हुए 56 हजार मतों को फिर से जोड़ने के लिए भीमराज भाटी की हुई वापसी

पाली. विधानसभा चुनाव में कांग्रेस टिकट नहीं मिलने पर बतौर निर्दलीय चुनावी रण में ताल ठोकने वाले पूर्व विधायक भीमराज भाटी की कांग्रेस में अधिकृत तौर पर वापसी हो गई है। विधानसभा चुनाव में उन्हें 56 हजार वोट मिले थे। इसी ताकत के चलते लोकसभा चुनाव में उन्हें मुख्यमंत्री के करीबी बद्री जाखड़ की मजबूती के लिए कांग्रेस से जोड़ा गया है। भाटी के साथ ही बिलाड़ा से बागी होकर आरएलपी से चुनाव लड़ चुके रिटायर्ड आईपीएस विजेंद्र झाला की भी कांग्रेस में वापसी हुई है। 


प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव महेश शर्मा ने सोमवार को आदेश जारी करते हुए कहा है कि पूर्व सांसद व पाली लोकसभा क्षेत्र के उम्मीदवार बद्रीराम जाखड़ की अनुशंसा पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट के निर्देश पर विधानसभा चुनाव 2018 में पूर्व विधायक भीमराज भाटी के निष्कासन को रद्द कर उन्हें कांग्रेस में शामिल किया गया है। गत 5 अप्रैल को सीएम अशोक गहलोत व डिप्टी सीएम सचिन पायलट की पाली में सभा के दौरान पूर्व विधायक भीमराज भाटी मंच पर बैठे थे। हालांकि उसी दिन भाटी के कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें थी, लेकिन केवलचंद गुलेच्छा व महावीरसिंह सुकरलाई की ओर से इसका सार्वजनिक रूप से सीएम के समक्ष विरोध करने पर उस दिन भाटी को शामिल करने की घोषणा नहीं की गई। 


सीएम की सभा में तैयार हुई वापसी की पटकथा 
पाली से लोकसभा में प्रत्याशी बद्रीराम जाखड़ के समर्थन में 5 अप्रैल को सीएम ने पाली में सभा की। सभा से पहले स्वयं जाखड़ भाटी के घर गए और उनको सभा में आने का न्यौता दिया। भाटी सभा में आए और सीएम के साथ मंच पर बैठे। इस दौरान ही चुनाव में प्रत्याशी रहे महावीर सिंह सुकरलाई ने सीएम के समक्ष इस बात पर विरोध जताया। उनके साथ पूर्व चेयरमैन केवलचंद गुलेच्छा भी थे। विरोध स्वरूप दोनों सभा से चले गए। इसके चलते उस दिन भाटी को वापस पार्टी में शामिल करने की अधिकृत घोषणा नहीं हो पाई। सोमवार को अधिकृत रूप से पीसीसी ने आदेश जारी किए जिसमें बताया गया कि सांसद प्रत्याशी बद्री जाखड़ की अनुशंसा पर दोनों नेताओं की वापसी हुई है। 


मेरे साथ 56 हजार मतदाताओं का मान बढ़ाया : भाटी 
पूर्व विधायक भाटी ने कहा कि मैं जन्मजात कांग्रेसी हूं। मैंने कांग्रेस में रह कर पार्टी के साथ कभी विश्वासघात नहीं किया, बल्कि मैंने खुली लड़ाई लड़ी है। कांग्रेस मेरी रग में बसी हुई है, जिसके लिए मैं जीवन पर्यंत सेवा करूंगा। सीएम व डिप्टी सीएम के साथ पार्टी ने मेरी घर वापसी करा मेरे साथ उन 56 हजार मतदाताओं का मान बढ़ाया, जो चुनाव में मेरे साथ खड़े रहे। जिले में कांग्रेस के पक्ष में माहौल है और मेरे साथ सभी कार्यकर्ता लोकसभा के उम्मीदवार बद्रीराम जाखड़ के समर्थन में जी जान लगा कर विजयी दिलाएंगे। 
 

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन