कलेक्टर: जरूरी सामान लाने वाले वाहनों को कोई नहीं रोकेगाहकीकत: किराणा-सब्जी की टैक्सियाें व डेयरी गाड़ी को रोका

Jodhpur News - फालतू घूमने वालों पर प्रकृति का बारिशी डंडा दुरुपयोग करने वालों के परमिट/पास निरस्त कर रही...

Mar 27, 2020, 08:15 AM IST
Jodhpur News - rajasthan news collector no one will stop vehicles bringing essential goods reality vegetable taxis and dairy car stopped

{ फालतू घूमने वालों पर प्रकृति का बारिशी डंडा

{दुरुपयोग करने वालों के परमिट/पास निरस्त कर
रही पुलिस


कोरोना संक्रमण के प्रभाव को फैलने से रोकने के लिए पुलिस और प्रशासन अपने स्तर पर हरसंभव प्रयास कर रहे हैं, लेकिन पुलिस कमिश्नरेट के ही दो जिलों की कार्यप्रणाली में अंतर के चलते एक जिले में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने वालों के लिए परेशानी खड़ी कर रहा है।

पुलिस जिला पूर्व में जहां एसीपी स्तर के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि वे जिस भी इलाके में जाएं, वहां जो भी आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई से जुड़ी दुकानें खुली हों, उन्हें वहीं पर परमिट जारी किए जाए। वहीं दूसरी ओर, जिला पश्चिम में ऐसे दुकानदारों को थानों और एसीपी ऑफिसों में ही चक्कर लगवाए जा रहे हैं। इसके बावजूद भी आसानी से दुकानदारों को आवागमन के लिए परमिट नहीं मिल रहे हैं। इतना ही रहीं, राज्य सरकार ने गुड्स ट्रांसपोर्ट व्हीकल, जो आवश्यक वस्तुओं का परिवहन कर रही है, उन्हें लॉकडाउन की पाबंदी से मुक्त रखा गया है, लेकिन शहर में इस पर कई जगह पर उल्लंघन होता नजर आ रहा है।

शहर में लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए गाड़ियां जब्त करने या उनके चालान बनाने का दौर गुरुवार को भी जारी रहा, लेकिन इस सख्ती की चपेट में कुछ ऐसे लोग भी आए, जिन्हें नियमानुसार आवागमन की अनुमति परिचय पत्र दिखाने से ही है। एमडीएम हॉस्पिटल में संविदा पर लगी महिला चिकित्साकर्मी चौहाबो निवासी आयशा खान गुरुवार को अपने घर से दोपहर करीब 2 बजे हॉस्पिटल जाने के लिए निकली थी। घर पर दो छोटे बच्चे होने के चलते बाहर से ताला भी लगाया था। अभी बलदेव नगर के निकट क्षेत्र में पहुंची, तो पुलिस ने रोका। इस महिला का आरोप है कि पुलिसवालों ने उनकी बात तक नहीं सुनी और चालान काट गाड़ी जब्त कर ली। जबकि वे अपना हॉस्पिटल का परिचय पत्र भी दिखा रही थी। उनके घर की चाबियां भी गाड़ी की डिक्की में ही थी। दिनभर वे देवनगर थाना, शास्त्रीनगर थाना व बलदेव नगर चौकी के चक्कर लगाती रही, लेकिन किसी ने सुनवाई नहीं की। आखिरकार शाम को देवनगर थाने में एसएचओ सोमकरण के पास इसकी जानकारी पहुंची, तो उन्होंने महिला को गाड़ी की चाबी से घर की चाबी निकालकर दी।

सरदारपुरा क्षेत्र में सैलून का शटर बाहर से बंद कर भीतर बाल काट रहे संचालक को फटकार लगा किया पाबंद

लॉकडाउन के बावजूद कुछ लोग अपनी आदत से बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसा ही एक उदाहरण गुरुवार को सामने आया सरदारपुरा ई रोड पर। मोटर मर्चेंट एसोसिएशन हॉल के निकट डिस्कॉम सब स्टेशन के सामने स्थित एक सैलून का संचालक दो-तीन लोगों को लेकर दुकान पर पहुंचा। यहां उसने शटर खोल तीन जनों को भीतर बिठा दो जनों के बाल काटने शुरू कर दिए। इस दौरान दुकान का शटर बंद कर बाहर से ताला लगा दिया। क्षेत्रवासियों ने इसकी सूचना पुलिस को दी, तो सरदारपुरा थाने के एसआई प्रवीण जुगतावत की टीम मौके पर पहुंची। काफी देर बाद दुकानदार चाबी लेकर वहां पहुंचा और सैलून का शटर खोला, तो भीतर बाल काटने के सबूत भी पुलिस को नजर आए। तब, पुलिस ने उन्हें पाबंद करने के बाद फटकार लगा वहां से भगाया।

परमिट लेने वाले कई लोग कर रहे दुरुपयोग, अब रद्द होंगे

कोरोना का संक्रमण ज्यादा नहीं फैले, इसके लिए पूरे देश में लॉकडाउन लागू है। आमजन के लिए आवश्यक वस्तुएं, जैसे किराणा, दवा, फल-सब्जी की कमी न हो, इसके लिए ऐसे दुकानदारों को पुलिस व प्रशासन द्वारा परमिट/पास भी दिए जा रहे हैं, लेकिन गुरुवार को कई ऐसे लोग भी पुलिस की पकड़ में आए, जब किसी और के नाम का परमिट लेकर दूसरा व्यक्ति घूमता पाया गया। इसकी जानकारी सामने आने के बाद पुलिस आयुक्त प्रफुल्ल कुमार ने पुलिस अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि इस तरह पास का दुरुपयोग करने वालों के परमिट तत्काल रद्द करें। साथ ही पुलिस आयुक्त ने दुकानदारों से भी अपील की है कि जिसके नाम का पास जारी हुआ है, सिर्फ उसे ही आवश्यक वस्तुओं के परिवहन या उनके दुकान आने-जाने में ही इसका उपयोग करें। इसके अलावा फालतू घूमने पर भी उनके पास रद्द किए जाएंगे।

एमडीएमएच की संविदा चिकित्साकर्मी महिला की गाड़ी जब्त, घर की चाबी के चक्कर में 8 घंटे अटके रहे बच्चे


गैस सिलेंडर लेने जा रहे बुजुर्ग की गाड़ी जब्त, पुलिस पर बदसलूकी का भी आरोप

पाल लिंक रोड पर ऐसा ही एक और मामला सामने आया, जिसमें पुलिस पर एक बुजुर्ग से बदसलूकी करने का आरोप है। बताया जाता है कि बुजुर्ग अपने घर से गैस सिलेंडर लेने के लिए निकले थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोका। बुजुर्ग ने गैस सिलेंडर लेने की बात भी बताई, लेकिन वहां किसी ने उनकी नहीं सुनी और गाड़ी जब्त कर थाने भेज दी गई। हैरानी की बात है कि इस संबंध में मीडिया ग्रुप में चर्चा होने पर डीसीपी (वेस्ट) प्रीति चंद्रा ने पोस्ट किया कि वे खुद मौके पर थीं और बुजुर्ग समझकर गाड़ी सीज नहीं करके उन्हें जाने दिया गया। लेकिन, बुजुर्ग व्यक्ति ने बताया कि पुलिस ने उनके साथ बदसलूकी की और गाड़ी भी सीज करके ले गए थे।

X
Jodhpur News - rajasthan news collector no one will stop vehicles bringing essential goods reality vegetable taxis and dairy car stopped

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना