पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

क्या पीएचईडी की कायलाना की ग्रेविटी लाइन में हर 15 दिन में हो जाता लीकेज? झूठ बोलकर काट रहे हैं शहर में पानी

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पीएचईडी के सिटी सर्किल से पहले घोषित तौर पर शहर में हर 15 दिन में एक बार कटौती की जाती थी। ग्रामीण क्षेत्र में हर सप्ताह पानी काटा जा रहा था। गर्मियां शुरू होते ही पीएचईडी ने शहर में पानी की कटौती बंद कर दी, लेकिन हर माह मेंटिनेंस के नाम पर कटौती जारी रखी। अप्रेल से अब तक विभाग ने पाइपलाइन में मरम्मत का एक ही बहाना बनाकर 91 जोन में शटडाउन किया। दो दिन सप्लाई नहीं होने का कहा लेकिन हकीकत यह है कि चार दिन तक पानी की सप्लाई नहीं हो रही। विभाग दावा ये भी करता था कि जिस दिन सप्लाई नहीं की गई, उसके अगले दिन कम दबाव व देरी से सप्लाई होगी लेकिन ऐसा होता ही नहीं।

ढाई माह में तीन बार पानी कटौती

22-23 जून को सप्लाई नहीं की गई। 25 जून तक शहर में पानी की सप्लाई सही नहीं हुई।

21 की रात से 22 जुलाई की रात तक सप्लाई बंद रखी। सप्लाई 24 जुलाई के बाद सुचारू हुई।

आगामी 9 अगस्त को सप्लाई बंद रहेगी। यह सप्लाई 10 व 11 अगस्त तक सुचारू होगी।

दोनों ही जलाशयों में 10 दिन का पानी

शहर की प्यास बुझाने वाले दोनों ही जलाशयों कायलाना व तखतसागर में बुधवार को 208 एमसीएफटी पानी भरा हुआ है। इसमें से 100 एमसीएफटी डेड स्टोरेज निकाल दें तो शेष 108 एमसीएफटी पानी से दस दिन तक शहर की प्यास बुझाई जा सकती है। इससे पहले 24 जुलाई को 182 एमसीएफटी पानी था जो कटौती के बाद बढ़कर 192 एमसीएफटी हो गया। 28 जुलाई को 6 इंच बारिश के बाद दोनों में 6 से 7 एमसीएफटी पानी आया था।

पहले लेवल बढ़ाने के लिए पानी काटते थे, इस बार मरम्मत के साथ लाइन शिफ्टिंग करेंगे

Q. हर माह कटौती के बाद अब 9 अगस्त को शट डाउन क्यों ले रहे हैं ?

A. पहले तो जलाशयों का जलस्तर बढ़ाने के लिए शटडाउन लेते थे, जिससे गर्मियों में शहर में किसी तरह की दिक्कत नहीं आए। इस बार 9 अगस्त को शहर की पाइपलाइन शिफ्ट करने व पंप की मरम्मत के लिए शट डाउन लिया है।

Q. कटौती करने के लिए बड़ी लाइनों में लीकेज का बहाने क्यों बनाने पड़ते हैं?

A. यदि बहाने नहीं बनाए तो जनता में पैनिक हो जाएगा। लोगों को यह लगेगा कि जलाशयों में पानी नहीं हैं। पानी बचाने के लिए शट डाउन करना पड़ता है। हमारे लिए चीजें ही यही हैं तो नया क्या बताएं?

Q. पानी कटौती करने की नौबत क्यों आ गई?

A. जलाशयों का लेवल कम होने के कारण पानी काटा गया था। जिससे पूरी गर्मियों में शहर में जल संकट नहीं हुआ। वरना अपने यहां भी ट्रेन चलने जैसे हालात हो जाते।

  मनोज भवण एक्सईएन, नगर खंड प्रथम, पीएचईडी

खबरें और भी हैं...