• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • Jodhpur News rajasthan news four prisoners of jodhpur jail have given penance to the repentance changed the pictures of great men and priceless words and converted the prison into a new form

जोधपुर जेल के 4 बंदियों ने पश्चाताप को हुनर का रंग दिया, महापुरुषों की तस्वीरें और अनमोल वचन उकेरकर कारागृह को नए स्वरूप में बदला

Jodhpur News - अहिंसा के कई स्वरूप हैं। इन्हीं में से एक है अपराध का मार्ग छाेड़कर रचनात्मकता की राह पर चलना भी अहिंसा का ही एक...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 08:26 AM IST
Jodhpur News - rajasthan news four prisoners of jodhpur jail have given penance to the repentance changed the pictures of great men and priceless words and converted the prison into a new form
अहिंसा के कई स्वरूप हैं। इन्हीं में से एक है अपराध का मार्ग छाेड़कर रचनात्मकता की राह पर चलना भी अहिंसा का ही एक स्वरूप है। इसी अहिंसा के स्वरूप काे जाेधपुर जेल के कुछ कैदी चरितार्थ कर रहे हैं। छेड़छाड़ और धोखाधड़ी के मामले में दो साल से जेल में बंद टोंक के टोडा रायसिंह नगर के मुबारक खान जेल की दीवारों पर महावीर, तुलसी सहित महापुरुषाें की तस्वीरें उकेर रहे हैं। जेल प्रशासन को जब उसके पेंटिंग के हुनर का पता चला ताे जेल अधीक्षक कैलाश त्रिवेदी ने मुबारक को रंग-ब्रश इत्यादि दिलाए। मुबारक ने भी अहिंसा के मार्ग पर चलने का संकल्प लेते हुए कूची से भगवान महावीर की तस्वीर उकेर दी। कुछ ही दिनों में जेल के वार्ड नंबर दो के बाहर की दीवारों पर आकृतियां मूर्त रूप लेने लगीं। धर्म, जाति, सामाजिक रूढ़ियों को भुलाकर हिंदू देवी-देवताओं के विशालकाय चित्र जेल की दीवारों पर बनाने का क्रम तकरीबन चार-पांच महीने से जारी है। इस काम में तीन अन्य बंदी राकेश, भैरू व नवरतन भी मुबारक का साथ दे रहे हैं।

अपराध का मार्ग छाेड़कर रचनात्मकता की राह पर चलना भी है अहिंसा का एक रूप

भगवान महावीर के चित्र से शुरुआत

मुबारक ने जेल में चित्र बनाए हैं। जेल के भीतरी हिस्से में प्रवेश करते ही सबसे पहली चित्रकारी भगवान महावीर की ही है। उसकी सबसे खास कलाकृति है जेल परिसर में स्थित रंगमंच की दीवार पर 15×17 फीट की मां सरस्वती की पेंटिंग। मुबारक का कहना है कि अहिंसा के मार्ग पर चलने की चाह से वह खुद को जेल में होते हुए भी सहज महसूस करने लगा। जेलर जगदीश पूनिया व अन्य अधिकारी इस कार्य में काेई परेशानी नहीं अाने देते हैं।

वर्तमान में महावीर के सिद्धांताें की प्रासंगिकता संताें ने बताई

अहिंसा, अनेकांत, अपरिग्रह में समस्याअाें का हल: अाचार्य लाेकेश

महावीर जयंती मनाने का उद्देश्य तभी पूर्ण होगा जब हम उनके दर्शन की प्रासंगिकता को समझे और जीवन में उतारे। भगवान महावीर केवल आध्यात्मिक गुरु के साथ ही वैज्ञानिक और मनोवैज्ञानिक भी थे। उन्हाेंने अपने शरीर को एक प्रयोगशाला बनाया। वह सत्य जो उन्होंने गहन ध्यान, तपस्या और साधना के बाद अनुभव किया, वह हमें दिया। भगवान की शिक्षा में युद्ध और आतंकवाद के कारण, हिंसा, धार्मिक असहिष्णुता और आर्थिक शोषण, पर्यावरण और प्राकृतिक असंतुलन जैसी वैश्विक समस्याओं के समाधान हैं।

अल्प अाैर अधिक उपलब्धता, दाेनाें हानिकारक : चंद्रप्रभ सागर

भगवान महावीर दर्शन में आर्थिक असमानता को कम करने के लिए भी तर्क है। अल्प और अधिक उपलब्धता दोनों हानिकारक हैं। एक व्यक्ति को अपने जन्म से नहीं बल्कि उसे कर्म से जाना जाए। ‘षटजीवनिकाय’ सिद्धांत कहता है कि प्रकृति के साथ अनावश्यक रूप से उपभोग और छेड़छाड़ नहीं करनी चाहिए। इससे पारिस्थितिक तंत्र की सुरक्षा होती है। उन्होंने कहा हमेशा सभी जीवों के प्रति दया, समभाव, क्षमा, और प्रेम रखना चाहिए।

Jodhpur News - rajasthan news four prisoners of jodhpur jail have given penance to the repentance changed the pictures of great men and priceless words and converted the prison into a new form
Jodhpur News - rajasthan news four prisoners of jodhpur jail have given penance to the repentance changed the pictures of great men and priceless words and converted the prison into a new form
Jodhpur News - rajasthan news four prisoners of jodhpur jail have given penance to the repentance changed the pictures of great men and priceless words and converted the prison into a new form
X
Jodhpur News - rajasthan news four prisoners of jodhpur jail have given penance to the repentance changed the pictures of great men and priceless words and converted the prison into a new form
Jodhpur News - rajasthan news four prisoners of jodhpur jail have given penance to the repentance changed the pictures of great men and priceless words and converted the prison into a new form
Jodhpur News - rajasthan news four prisoners of jodhpur jail have given penance to the repentance changed the pictures of great men and priceless words and converted the prison into a new form
Jodhpur News - rajasthan news four prisoners of jodhpur jail have given penance to the repentance changed the pictures of great men and priceless words and converted the prison into a new form
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना