गेट 2019: जय की ऑल इंडिया में सेकंड रैंक

Jodhpur News - ग्रेजुएट एप्टीट्यूट टेस्ट फॉर इंजीनियरिंग (गेट) 2019 की परीक्षा में एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज कंप्यूटर साइंस ब्रांच...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 03:15 AM IST
Jodhpur News - rajasthan news gate 2019 second rank in jai39s all india
ग्रेजुएट एप्टीट्यूट टेस्ट फॉर इंजीनियरिंग (गेट) 2019 की परीक्षा में एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज कंप्यूटर साइंस ब्रांच के स्टूडेंट्स जय बंसल ने कंप्यूटर साइंस में ऑल इंडिया सेकंड रैंक हासिल की है। किशनगढ़ निवासी जय यहां एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ रहे हैं। गेट का रिजल्ट शुक्रवार देर रात घोषित किया गया। इसमें एमबीएम के 10 से अधिक स्टूडेंट्स ने बाजी मारी है। टॉप 100 में जोधपुर के तीन स्टूडेंट रहे। जय बंसल के साथ कंप्यूटर साइंस में श्रीनिवास पालीवाल ने 90वीं रैंक हासिल की वहीं माइनिंग ब्रांच के हर्षित अग्रवाल को 71वीं रैंक मिली हैं। रिजल्ट में एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज की कंप्यूटर साइंस ब्रांच के 7, इलेक्ट्रिकल के 2, माइनिंग 1 और मैकेनिकल के 1 स्टूडेंट सफल रहे हैं। ग्रेजुएशन के बाद इंजीनियरिंग में मास्टर्स करने की यह सबसे बड़ी परीक्षा होती है। इसमें पूरे देश में करीब 8 लाख से अधिक स्टूडेंट्स ने भाग लिया था।

गेट का रिजल्ट आने पर एक बार तो विश्वास ही नहीं हुआ कि मेरी ऑल इंडिया सैकंड रैंक आई है। पेपर तो अच्छे हुए थे लेकिन यह रैंक आने से मैं खुद भी आश्चर्यचकित रह गया। मेरा एक ही मूलमंत्र था कि बिना स्ट्रेस के स्टडी करना। मैंने पढ़ाई का दबाव नहीं लिया और न ही दिन के आठ-दस घंटे पढ़ा। मैं रोजाना 4 घंटे रेग्यूलर स्टडी करता था। कभी भी ब्रेक नहीं लिया। जो भी पढ़ता था वो पूरे फोकस के साथ पढ़ा ताकि बार-बार पढ़ने की जरूरत ना पड़े। हमारे कॉलेज के टीचर्स के सहयोग से यह रास्ता आसान हो गया। पिता किशनगढ़ में डॉक्टर हैं और मां हाउस वाइफ। जय ने बताया, वे आईआईटी बंगलुरू से मास्टर्स करना चाहते हैं। जय ने कहा, मौका मिलेगा तो विदेश की किसी यूनिवर्सिटी से पीएचडी भी करना चाहता हूं पर जॉब अपने देश में ही करुंगा। चूंकि बचपन से कंप्यूटर साइंस में रूचि थी, इसलिए इंजीनियरिंग में सब्जेक्ट भी इसे ही चुना।

बिना स्ट्रेस स्टडी मेरा मूलमंत्र: जय

प्लेसमेंट हो रखा है, एक बार जॉइन करुंगा, फिर एमटेक: हर्षित

उदयपुर निवासी हर्षित एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज की माइनिंग ब्रांच में पढ़ रहे हैं। हर्षित ने सफलता का श्रेय कॉलेज टीचर्स और ब्रांच को दिया है। उन्होंने कहा, यहां पर माइनिंग को लेकर जो स्टडी करवाई जाती है, वो ही कारगर सिद्ध होती है। अलग से कुछ करने की जरूरत नहीं होती है। क्लास रूम में जो टीचर्स पढ़ाते हैं, अगर वो ही पढ़ लें तो सफलता मिल जाती है। मैं बस पढ़ाई हुई बातों को रिवाइज कर देता था जबकि मैंने एग्जाम से केवल एक महीने पहले ही स्टडी शुरू की थी। यही मेरे बहुत काम आई। पिता केंद्रीय विद्यालय में टीचर हैं और मां प्राइवेट स्कूल में शिक्षिका।

ऑल इंडिया रैंक 2

ऑल इंडिया रैंक 71

मौसमी नहीं नियमित स्टडी से ही सफलता:श्रीनिवास

जयपुर निवासी श्रीनिवास पालीवाल कंप्यूटर साइंस में फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स हैं। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय नियमित स्टडी को दिया। कहा, स्टडी के लिए शेड्यूल बना लिया था ताकि बेवजह की चीजें ध्यान ना भटका सकें। नियमित तौर पर तीन-चार घंटे पढ़ता था। परीक्षा देने के बाद भी सोचा नहीं था कि यह रैंक आएगी लेकिन जब इसकी जानकारी मिली तो खुशी हुई। श्रीनिवास आईआईटी बोम्बे से मास्टर्स करना चाहते हैंं। श्रीनिवास के पिता प्राइवेट जॉब करते हैं और मां हाउस वाइफ है।

ऑल इंडिया रैंक 90

Jodhpur News - rajasthan news gate 2019 second rank in jai39s all india
Jodhpur News - rajasthan news gate 2019 second rank in jai39s all india
X
Jodhpur News - rajasthan news gate 2019 second rank in jai39s all india
Jodhpur News - rajasthan news gate 2019 second rank in jai39s all india
Jodhpur News - rajasthan news gate 2019 second rank in jai39s all india
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना