हिस्टोप्लाज्मोसिस फंगल इंफेक्शन का डॉक्टर टीबी मान करते हैं इलाज: डॉ. गोमेज

Jodhpur News - एम्स में नेशनल कॉन्फ्रेंस हिस्टोप्लाज्मोसिस फंगल इंफेक्शन की वर्तमान में डॉक्टर टीबी मानकर जांच कर रहे...

Feb 15, 2020, 09:20 AM IST

एम्स में नेशनल कॉन्फ्रेंस

हिस्टोप्लाज्मोसिस फंगल इंफेक्शन की वर्तमान में डॉक्टर टीबी मानकर जांच कर रहे हैं तो कुछ इलाज भी कर रहे हैं। जबकि वह टीबी नहीं होता है। यदि मरीज के पूरे शरीर में इंफेक्शन हो रहा है और स्किन में अल्सर हो गए हैं तो डाइग्नोस का सबसे अच्छा तरीका यह है कि मरीज की एडिनल ग्रंथि बढ़ी हुई है, तो मरीज को हिस्टोप्लाज्मोसिस है। यह शरीर के सफेद रक्त सेल में होता है। ये बात कोलंबिया से आईं डॉ. ब्रिथ्रीज गोमेज ने एम्स में आयोजित तीन दिवसीय 13वीं सिंहम 2020 नेशनल काॅन्फ्रेंस ऑफ सोसायटी फॉर इंडियन ह्यूमन एंड एनिमल माइक्रोजिस्ट में ‘हिस्टोप्लाज्मोसिस- कितनी बड़ी समस्या’ विषय पर संबोधन देते हुए कही। उन्होंने बताया कि इसे आसानी से ट्रीट किया जा सकता है।

काॅन्फ्रेंस के दूसरे सेशन में नीदरलैंड से आए जैक्विस मैस ने बताया कि अस्पतालों में कैंडिडा ऑरिस नाम का फंगस इंफेक्शन
बहुत अधिक मिलता है। यह बैक्टीरिया की
तरह फैलता है। यह उन लोगों को अपनी चपेट में लेता है, जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर
है। कैंडिडा ऑरिस एक ऐसा फंगस है जो आमतौर पर अस्पताल के वातावरण में मौजूद रहता है। अस्पतालों में आने-जाने वाले मरीज और उनके परिजनों से यह एक व्यक्ति से दूसरे में जाता है। इससे बचाव का अच्छा तरीका है कि साबुन से हाथ धोएं और एक दूसरे से हाथ नहीं मिलाएं।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना