दान सुपात्र को देंगेे तो आनंद का अनुभव होगा, पछतावा नहीं : आचार्य विजय

Jodhpur News - कम्युनिटी रिपोर्टर | जोधपुर गुलाब नगर में चल रहेे धार्मिक आयोजन के तहत बुधवार को आचार्य विजय पद्मभूषण र|...

Nov 28, 2019, 09:16 AM IST
Jodhpur News - rajasthan news if you donate to charity you will experience bliss no regrets acharya vijay
कम्युनिटी रिपोर्टर | जोधपुर

गुलाब नगर में चल रहेे धार्मिक आयोजन के तहत बुधवार को आचार्य विजय पद्मभूषण र| सूरीश्वर ने कहा कि श्रावक जीवन में श्रद्धा, विवेक व क्रिया का होना जरूरी है। श्रद्धा से की गई क्रिया फलीभूत होती है। श्रद्धा के बिना की गई क्रिया बिना अंक के शून्य के समान होती है। उन्होंंने कहा कि श्रद्धा और क्रिया विवेकपूर्ण होनी चाहिए। इस तह से हर स्थान पर विवेक जरूरी है। उन्होंने कहा कि दान पात्र को दिया जाना चाहिए। दान देने के बाद आनंद का अनुभव होना चाहिए न कि पछतावा। वहीं संसार परिभ्रमण का अंत लाने के लिए धर्म ध्यान ही श्रेष्ठ व जरूरी है। जीवन में आगे बढ़ने, उन्नति पाने के लिए सबको साथ लेकर चलना ही अच्छा रहता है। इस दाैरान गुलाब नगर जैन श्रीसंघ के गणपत सालेचा ने भी विचार व्यक्त किए।

गुलाब नगर में संत ने मार्गदर्शन किया।

X
Jodhpur News - rajasthan news if you donate to charity you will experience bliss no regrets acharya vijay
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना