• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • Jodhpur News rajasthan news manju is likely to attack the prisoners of anti gang or shifting him from jodhpur jail

मांजू की जोधपुर जेल में शिफ्टिंग से उस पर या विरोधी गैंग केे बंदियों पर हमला संभव : सरकार

Jodhpur News - लीगल रिपोर्टर | जोधपुर व्यवसायी दिनेश बंबानी पर फायरिंग करने के मामले के आरोपी कैलाश मांजू को अजमेर से जोधपुर...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:50 AM IST
Jodhpur News - rajasthan news manju is likely to attack the prisoners of anti gang or shifting him from jodhpur jail
लीगल रिपोर्टर | जोधपुर

व्यवसायी दिनेश बंबानी पर फायरिंग करने के मामले के आरोपी कैलाश मांजू को अजमेर से जोधपुर शिफ्ट करने के प्रार्थना पत्र पर जिला व सेशन न्यायालय में गुरुवार को सुनवाई हुई। सरकार की ओर से जवाब पेश किया गया। सरकार ने कहा कि अभियुक्त कुख्यात गैंगस्टर, खतरनाक व आदतन अपराधी और मांजू गैंग का मुखिया है। अभियुक्त की गैंग के अन्य बंदी जो जोधपुर जेल में बंद हैं, फिलहाल शांत हो चुके हैं। मांजू के यहां शिफ्ट होने पर उसके संपर्क में आने पर पुन: सक्रिय होकर आपराधिक वारदात सम्मिलित होने की पूर्ण संभावना है। मामले में अगली सुनवाई 24 जून को मुकर्रर की है।

मांजू की ओर से उसे अजमेर जेल से जोधपुर जेल में शिफ्ट करने की अर्जी पेश की गई। उसने खुद को सर्वाइकल की समस्या बताई है। इस कारण पेशी के लिए अजमेर से जोधपुर तक आने में दिक्कत होती है।

अपर लोक अभियाेजक दिनेश शर्मा ने गुरुवार को सुनवाई के दौरान जवाब पेश किया कि अभियुक्त कैलाश मांजू द्वारा पूर्व में फायरिंग कर गैंगस्टर कैलाश जाखड़ को हाईकोर्ट कैंपस से फरार करवाया था। इस कारण से मांजू को पूर्व में मुख्यालय कारागार जयपुर के आदेश की पालना में 4 मई 2013 को अजमेर स्थानांतरित किया गया। उन्होंने यह भी बताया कि अभियुक्त द्वारा कारागार में झगड़ा करवाने व बंदियों को प्रशासन के विरुद्ध भड़काने के कारण मुख्यालय कारागार जयपुर के आदेश की पालना में 1 मई 2015 को फिर से अजमेर जेल में स्थानांतरित किया गया।

अपर लोक अभियोजक शर्मा ने कोर्ट के ध्यान में लाया कि अभियुक्त मांजू की विरोधी गैंग के सदस्य भी जोधपुर जेल में बंद हैं, मसलन लॉरेंस गैंग, पोलाराम गैंग, शहजाद गैंग, विशनाराम गैंग आदि, जो मांजू पर जानलेवा हमला कर सकते हैं या अभियुक्त उन पर जानलेवा हमला कर सकते हैं। इससे कारागार का शांत माहौल पुन: खराब होने की पूर्ण संभावना है।

उन्होंने कोर्ट को यह भी बताया कि अभियुक्त जोधपुर जेल की सुरक्षा के लिए घातक होने पर उसे गत 27 नवंबर को अजमेर जेल में शिफ्ट किया गया। शर्मा ने कोर्ट से आग्रह किया कि अभियुक्त को जोधपुर जेल में शिफ्ट करने पर यहां का माहौल खराब हो सकता है, इसलिए उसके स्थानांतरण की अर्जी खारिज की जाए। जिला व सेशन न्यायाधीश नरसिंह दास व्यास ने मामले में अगली सुनवाई 24 जून मुकर्रर की है।

X
Jodhpur News - rajasthan news manju is likely to attack the prisoners of anti gang or shifting him from jodhpur jail
COMMENT