एमडीएमएच में हंगामा करने वाली युवती को न्यायिक अभिरक्षा में भेजा

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:50 AM IST

Jodhpur News - जोधपुर | एमडीएम अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में दो दिन पूर्व हंगामा करने और रेजिडेंट डॉक्टर के साथ बदसलूकी करने के...

Jodhpur News - rajasthan news mdmh sent rowdy maiden to judicial custody
जोधपुर | एमडीएम अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में दो दिन पूर्व हंगामा करने और रेजिडेंट डॉक्टर के साथ बदसलूकी करने के मामले में गिरफ्तार युवती ममता विश्नोई को गुरुवार को कोर्ट के समक्ष पेश किया गया। युवती की ओर से जमानत प्रार्थना पत्र पेश किया गया, लेकिन कोर्ट ने उसे खारिज कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए। ममता को किसी हादसे में घायल होने पर एमडीएम अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में इलाज के लिए लाया गया था। यहां उसने जमकर हंगामा किया। उसने वहां मौजूद डॉक्टर्स के साथ बदसलूकी भी की। उसने डॉक्टर्स को आपत्तिजनक शब्द भी बोले। समझाइश के बाद भी वह हंगामा करती रही। ममता खुद को पुलिस में सीआई तो कभी सब इंस्पेक्टर बता रही थी।

3 साल की सजा व Rs.50 हजार तक के जुर्माने का प्रावधान

अस्पताल प्रबंधन ने युवती के खिलाफ राजस्थान मेडिकेयर सर्विस पर्सन एंड मेडिकेयर सर्विस इंस्टीट्यूशंस (प्रिवेंशन्स ऑफ वायलेंस एंड डेमेज टू प्रॉपर्टी) एक्ट 2008 की धारा 3 व 4 के तहत मामला दर्ज करवाया है। धारा तीन में मेडिकल सर्विस इंस्टीट्यूशन में किसी भी कृत्य से मेडिकल पर्सन के खिलाफ उत्पीड़न व प्रॉपर्टी के नुकसान को प्रतिबंधित किया गया है। धारा 4 में कोई आरोपी अगर धारा 3 में उल्लेखित प्रावधान के उल्लंघन का दोषी पाया जाता है तो उसे तीन साल की सजा और 50 हजार रुपए तक जुर्माना हो सकता है।

X
Jodhpur News - rajasthan news mdmh sent rowdy maiden to judicial custody
COMMENT