एनबीए मान्यता प्राप्त कॉलेज बढ़ा सकेंगे 20 प्रतिशत ट्यूशन फीस

Jodhpur News - प्रदेशभर के तकनीकी शिक्षण संस्थानों की फीस अब तय कर दी गई है। फीस तय होने के बाद छात्रों को कॉलेज का चुनाव करते...

Feb 15, 2020, 09:20 AM IST

प्रदेशभर के तकनीकी शिक्षण संस्थानों की फीस अब तय कर दी गई है। फीस तय होने के बाद छात्रों को कॉलेज का चुनाव करते समय फीस के संबंध में पारदर्शिता आएगी। रिपोर्ट के अनुसार केवल नेशनल ब्यूरो ऑफ एक्रिडिएशन से मान्यता कॉलेज को ही बढ़ी हुई फीस लेने का अधिकार होगा। इसके तहत पूरे प्रदेश में केवल दो निजी इंजीनियरिंग कॉलेज हैं जो एनबीए से मान्यता प्राप्त हैं। इसमें जोधपुर में जीत कॉलेज और जयपुर में एसकेआईटी कॉलेज शामिल हैं।

अभी तक सभी कॉलेज द्वारा फीस अंतरिम रूप से ली जा रही थी। हालांकि इंजीनियरिंग में कुछ कॉलेज की अधिकतम फीस 77 हजार रुपए तय कर दी गई थी, लेकिन कई कॅालेज अपने-अपने अनुसार फीस ले रहे थे। अब सरकार द्वारा अलग-अलग कॉलेजों की अपनी-अपनी फीस अंतिम रूप से इस सत्र (2019-20) तक के लिए तय कर दी गई है। सरकार द्वारा गठित जस्टिस पीके तिवारी कमेटी ने राज्य भर के तकनीकी शिक्षण संस्थानों के विभिन्न पहलुओं के परीक्षण, विचार-विमर्श एवं उनके गुणवत्तायुक्त विभिन्न कार्यक्रमों के अवलोकन के पश्चात राज्य के ऐसे महाविद्यालयों, जिनके दो तिहाई पाठ्यक्रम, नियामक प्राधिकारी की ओर से एक्रेडिएटेड है। उनकी ट्यूशन फीस को 20 प्रतिशत बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। हालांकि राज्य में फीस राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित फीस से कम तय की गई है। सरकार द्वारा दिए गए निर्णय में यह फीस शैक्षणिक सत्र 2017-18, 2018-19 एवं 2019-20 में प्रवेशित छात्र-छात्राओं से ली जानी है अर्थात अभियांत्रिकी में पढ़ने वाले तृतीय, द्वितीय वर्ष एवं प्रथम वर्ष के विद्यार्थी अपने प्रवेश के वर्ष से यह फीस जमा करवाएंगे।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना