वाहनों की रेलमपेल बंद होने, फैक्ट्रियां नहीं चलने से हवा में कम हो रहा प्रदूषण

Jodhpur News - कोरोना वायरस के चलते पहले जनता कर्फ्यू और बाद में लॉकडाउन से हवा में प्रदूषण का स्तर लगातार कम हो रहा है। हवा में...

Mar 27, 2020, 08:15 AM IST

कोरोना वायरस के चलते पहले जनता कर्फ्यू और बाद में लॉकडाउन से हवा में प्रदूषण का स्तर लगातार कम हो रहा है। हवा में प्रदूषण स्तर मापने के लिए यूं ताे 8 मेजर हाेते हैं, लेकिन जाेधपुर में मुख्य रूप से चार मेजर की जांच से पता चला कि 22 मार्च के बाद हवा में फैले प्रदूषण के स्तर में काफी कमी आई है।

दरअसल देश के सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों की सूची में जोधपुर शामिल है। यहां पीएम 10 और पीएम 2.5 धूल के कणों से हवा में प्रदूषण का स्तर मापा जाता है। जोधपुर में इन दोनों के अलावा एसओएक्स और एनओएक्स से भी प्रदूषण स्तर नापा जा रहा है। इसमें सल्फर, फ्यूल से निकलने वाले धुएं से प्रदूषण का स्तर जांचा जाता है, पर लॉकडाउन होने से हवा में प्रदूषण के स्तर में कमी आई है। प्रदूषण के स्तर को जांचने के लिए जोधपुर में 10 अलग-अलग स्थानों पर मशीन लगी हुई है। शहर के केंद्र पावटा स्थित कलेक्ट्रेट में लगी मशीन के आंकड़े देखें तो पता चलेगा कि वायु प्रदूषण में कमी आई है। कारण कि बीते चार-पांच दिन से सड़कों पर वाहनों की संख्या में जबरदस्त कमी आई है अौर इंडस्ट्रीज भी लगभग बंद हैं। ऐसे में प्रदूषण विभाग के आंकड़ों से पता चला कि जोधपुर की हवा शुद्ध हो रही है।

पीएम 10- स्टैंडर्ड होना चाहिए - 100 माइक्रोग्राम प्रति मीटर

20 फरवरी को हवा में पीएम-10 का स्तर 195.32 माइक्रोग्राम प्रति मीटर था, जो 21 फरवरी कोे 201.85, 25 फरवरी को 184.04, 29 फरवरी को 176.65, 1 मार्च को 150.87, 7 मार्च को 105.12, 15 मार्च को 145.66, 20 मार्च को 195.89, 22 मार्च को यह 123.44 हो गया। 23 मार्च को 89.47, 24 को 99.04, 25 को 94.6 और 26 मार्च को 168.48 माइक्रोग्राम प्रति मीटर हो गया।

पीएम 2.5 स्टैंडर्ड होना चाहिए - 60 माइक्रोग्राम प्रति मीटर

20 फरवरी को यह 99.54, 21 को 78.54, 25 फरवरी को 67.46, 29 फरवरी को 70.59 माइक्रोग्राम प्रति मीटर था। 1 मार्च को 64.15, 7 मार्च को 63.81, 15 को 86.46, 20 को 104.18, 22 मार्च को 56.65, 23 को 51.55, 24 को 47.81, 25 को 58.70 और 26 मार्च को यह 97.21 माइक्रोग्राम प्रति मीटर था।

एसओएक्स -स्टैंडर्ड होना चाहिए - 80 माइक्रोग्राम प्रति मीटर

20 फरवरी को 5.11, 21 फरवरी को 8.71, 25 फरवरी को 14.03, 29 फरवरी को 8.61, 1 मार्च को 7.75, 7 मार्च को 9.57, 15 मार्च को 7.75, 20 मार्च को 8.72, 22 मार्च को 6.63, 23 को 9.77, 24 मार्च को 8.73, 25 मार्च को 8.55 और 26 मार्च को 9.54 माइक्रोग्राम प्रति मीटर था।

एनओएक्स- स्टैंडर्ड होना चाहिए- 80-माइक्रोग्राम प्रति मीटर

20 फरवरी को 82.36, 21 फरवरी को 76.92, 25 फरवरी को 58.03, 29 फरवरी को 81.97, 1 मार्च को 24.20, 7 मार्च को 43.27, 15 मार्च को 13.00, 20 मार्च को 93.63, 22 मार्च को 8.83, 23 मार्च को 123.05, 24 मार्च को 8.30, 25 मार्च को 6.63 और 26 मार्च को 3.43 माइक्रोग्राम प्रति मीटर था।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना