कहीं वार्ड की बाउंड्री क्राॅस, कहीं लंबा व सड़कनुमा वार्ड

Jodhpur News - वार्डों के पुनर्गठन के प्रस्ताव व नक्शे तैयार करने के पहले नगर निगम अफसरों ने राज्य सरकार के आदेशों को सही ढंग से...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 09:00 AM IST
Jodhpur News - rajasthan news somewhere in the ward39s boundary crass long and street ward
वार्डों के पुनर्गठन के प्रस्ताव व नक्शे तैयार करने के पहले नगर निगम अफसरों ने राज्य सरकार के आदेशों को सही ढंग से पढ़ा नहीं, इसके कारण 100 वार्ड ही बनाने थे, उसकी जगह अफसरों ने 102 वार्डों के नक्शे जारी कर दिए। यही नहीं, इन प्रस्तावों को जारी करने के पहले प्रपत्र क, ख व ग पढ़ा नहीं। इस अनदेखी के चलते वार्डों के जनगणना ब्लॉक, वार्ड सीमा व आबादी के अनुपात का संतुलन सही ढंग से नहीं बिठा पाए।

अब कुछ वार्डों की बाउंड्री क्राॅस करने तो कुछ वार्डों को बेहद लंबा आैर सड़कनुमा बनाने के मामले भी उजागर होने लगे हैं। भास्कर ने वार्डों के पुनर्गठन के प्रस्तावों व नक्शों को जारी करने के पश्चात एक्सपर्ट के साथ इनका अवलोकन किया तो इसमें बड़ी गलतियां चौड़े आई। भास्कर में 13 जुलाई को ‘क, ख, ग पढ़ा नहीं, शहर को 100 की जगह दे दिए 102 वार्ड के नंबर’ शीर्षक से खबर प्रकाशित होने के बाद शनिवार को ही अवकाश के बावजूद इस काम में लगी निगम अफसरों की टीम पूरे दिन पुनर्गठन के प्रस्ताव व नक्शे में उजागर गलतियों को सुधारने में जुटी रही।

नोडल अधिकारी अनिल माथुर, एक्सईएन सुधीर माथुर व राहुल गुप्ता सहित अन्य अभियंता पूरे दिन इसी काम में जुटे नजर आए। इधर, वार्डों के पुनर्गठन के लिए तैयार किए प्रस्ताव व नक्शों पर आपत्तियां लेने का सोमवार को अंतिम दिन है। आयुक्त सुरेश कुमार आेला के पास अब तक 20-25 आपत्तियां ही आई हैं, जिन्हें नोडल अधिकारी व एसटीपी अनिल माथुर को भेजा गया है। भाजपा दो दिवसीय आपत्ति शिविर के दौरान प्राप्त हुई 100 वार्डों की आपत्तियों का संकलन कर सोमवार को आयुक्त को सौंपेगी। निगम स्तर पर वार्डों के प्रस्ताव व नक्शे तैयार कर जारी करते समय सरकार के आदेश की अनदेखी भी की है। सरकार की आेर से 10 जून को जारी अधिसूचना के अनुदेश के बिंदुओं में स्पष्ट आदेश अंकित होने के बावजूद कई गलतियां चौड़े आई हैं।

आपत्तियां पेश करने का कल अंतिम दिन, भाजपा भी आयुक्त को सौंपेगी वार्ड वार आपत्तियां

वार्ड 41 व 42 जो सड़कनुमा बना दिए।

वार्डों के पुनर्गठन में कई गलतियां, कई इलाके जबरन घुसाए

1. वार्ड लंबे आैर सड़कनुमा | वार्ड 41 व 42 में वार्ड का डिमार्केशन रेलवे ट्रैक को माना है, लेकिन अफसरों ने कभी ट्रैक तो कभी बाउंड्री से डिमार्केशन कर दिया। इसके कारण दोनों वार्ड लंबे आैर सड़कनुमा बन गए। जबकि इसकी मनाही है।

2. कोई वार्ड बना पाॅकेटनुमा | वार्ड 28 व 29 को बनाते समय अफसरों ने जनगणना ब्लॉक को आधार बनाकर वार्ड 29 को पाॅकेटनुमा बना दिया। अफसर चाहते तो वार्ड 28 व 29 का सही विभाजन कर पाॅकेटनुमा होने से बचा सकते थे।

आयुक्त ने अब निकाले यह आदेश


सरकार स्तर पर नहीं, खुद आयुक्त करेंगे आपत्तियों का निस्तारण

आगामी नगरपालिका चुनाव को लेकर जारी अधिसूचना में वार्डों के पुनर्गठन तैयार प्रस्तावों व नक्शों पर आने वाली आपत्तियों के निस्तारण के लिए सरकार ने आयुक्त को ही अधिकृत किया है। ऐसे में वे ही वार्ड प्रस्ताव तैयार कर उनकी जांच करेंगे। उसके बाद वार्डों का राजपत्र में प्रारंभिक प्रकाशन कर दावे व आपत्तियों का निपटारा कर सरकार से अनुमोदन करवाएंगे।

3. वार्ड एक थाने की सीमा में नहीं |सरकार की अधिसूचना के अनुदेश में स्पष्ट किया कि वार्ड का पुनर्गठन ऐसा हो, ताकि एक थाना क्षेत्र ही आए, लेकिन पुराना वार्ड 14 (अब नया वार्ड 25) का सीमांकन सूरसागर, प्रतापनगर व खांडाफलसा थाना शामिल है। ऐसे कुछ वार्ड और भी हैं।

4. सीमांकन में स्पष्ट नहीं अंतिम छोर का मुटाम | वार्ड 6 के डालीबाई मंदिर चौराहे से गायत्री नगर तिराहे तक सीमांकन तो किया, लेकिन अंतिम छोर के लिए मुटाम तय नहीं किया। गायत्री नगर का 75% हिस्सा निगम व 25% लूणी विस क्षेत्र का शामिल है।

5. मनमर्जी से इलाकों को घुसाया | फिदूसर चौपड़ से आकाशवाणी होकर बड़ली जाने वाले रास्ते में आने वाले वार्ड 1 में शामिल बाडिया बालाजी के समूचे इलाके को वार्ड 2 में शामिल कर दिया। ऐसा अफसरों ने किसी की दखलंदाजी के चलते किया।

X
Jodhpur News - rajasthan news somewhere in the ward39s boundary crass long and street ward
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना