साथी काे खुदकुशी पर संदेह, अाराेप- पुजारी शिवदास का अपहरण कर ले गए थे अाराेपी

Jodhpur News - भास्कर न्यूज | लाेहावट अांचलिक लोहावट के इंद्रनगर स्थित जंभेश्वर मंदिर के पुजारी संत शिवदास की आत्महत्या पर...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 09:00 AM IST
Jodhpur News - rajasthan news suspicion of the partner39s suicide arpe pujari shivdas was kidnapped
भास्कर न्यूज | लाेहावट अांचलिक

लोहावट के इंद्रनगर स्थित जंभेश्वर मंदिर के पुजारी संत शिवदास की आत्महत्या पर उनके साथी संत रामसुखदास ने संदेह जताया है। उन्होंने शुक्रवार लोहावट पुलिस थाने में जंभेश्वर मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष बंशीलाल व गैंगस्टर विशनाराम सहित चार लोगों के खिलाफ 11 जुलाई को उनका अपहरण कर साथ ले जाने का आरोप लगाया है। इसके बाद से वे उनकी तलाश कर रहे थे, फिर अगले दिन शुक्रवार को उनका शव नहर में तैरता मिला। पुलिस ने उनकी रिपाेर्ट पर मामला दर्ज कर जांच शुरू की है। इधर, शनिवार को विश्नोई समाज के जाम्बा महंत भगवानदास, मृतक पुजारी शिवदास के गुरु प्रेमदास, जाम्बा महंत प्रेमदास व लोहावट के महंत मनीराम की मौजूदगी में मेडिकल बोर्ड से शव का पोस्टमार्टम करवाया गया। पोस्टमार्टम के बाद शव को अन्य सन्तों और अस्पताल में ही बड़ी संख्या में मौजूद ग्रामीणों को सुपुर्द किया गया। फिर पुलिस पहरे में उनका अंतिम संस्कार किया गया। संत रामसुखदास ने पुलिस काे दी रिपाेर्ट में बताया कि 11 जुलाई को दोपहर 2 बजे इंद्रनगर मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष बंशीलाल पुत्र फूसाराम, गैंगस्टर विशनाराम पुत्र मोहनराम, उसका भाई सोहनराम निवासी सुंडानगर व इंद्रनगर निवासी श्रवणकुमार पुत्र माणकराम विश्नोई ने रूपाराम पुत्र कानाराम विश्नाेई के घर से पुजारी शिवदास का अपहरण कर लिया। ये सभी पुजारी पर अपना अवैध डोडा पोस्त मंदिर में रखने को लेकर दबाव बना रहे थे, लेकिन पुजारी ने ऐसा करने से मना कर दिया। इसके बाद पुजारी का ऑडियो हमें मिला। जिस पर हमने उनकी तलाश शुरू की। अगले दिन शुक्रवार को हमें नहर के किनारे शिवदास का मोबाइल व जूते मिले। कुछ समय बाद उनका नहर में शव मिला। हमें उसकी मौत पर संदेह है।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम, अारएसी बुलाई

एहतियात के तौर पर शुक्रवार शाम को ही आसपास के थानों की पुलिस और आरएसी के जवानों का जाब्ता लोहावट बुला लिया गया था। रात भर पुजारी का शव लोहावट अस्पताल में रहा और पुलिस बल भी यहीं रहा। सुबह जब पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों को सुपुर्द कर एडिशनल एसपी जसाराम बोस और अन्य पुलिस अधिकारी लोहावट थाने आए तो पीछे-पीछे ग्रामीण भी एक बार शव लेकर थाने के सामने आ पहुंचे। यह देख कर पुलिस अधिकारी भी फिर साथ में गए और पुलिस की मौजूदगी में पुजारी का इन्द्रनगर में मंदिर के पास ही अंतिम संस्कार किया गया।

पुलिस पहरे में हुआ पुजारी का अंतिम संस्कार, सुरक्षा के मद्देनजर अतिरिक्त जाब्ता भी बुलाया

पुजारी शिवदास

एक अाैर अाॅडियाे वायरल
शनिवार काे मृतक पुजारी शिवदास का एक और ऑडियो सामने आया। जिसमें उसने गैंगस्टर विशनाराम और मंदिर ट्रस्ट अध्यक्ष बंसीलाल पर रेतीले धोरों में ले जाकर मारपीट करने का आरोप लगाया है। लेकिन गैंगस्टर विशनाराम पिछले लंबे समय से भंवरीदेवी अपहरण-हत्या प्रकरण में जोधपुर की सेंट्रल जेल में बंद है। इसके चलते पुजारी की बात पर ही संदेह पैदा हो रहा है। जिसमें उन्होंने साफ तौर पर विशनाराम पर अपहरण और मारपीट का आरोप लगाया है।

पोस्टमार्टम करने के दौरान खड़े साधु संत और पुलिस अधिकारी।

Jodhpur News - rajasthan news suspicion of the partner39s suicide arpe pujari shivdas was kidnapped
X
Jodhpur News - rajasthan news suspicion of the partner39s suicide arpe pujari shivdas was kidnapped
Jodhpur News - rajasthan news suspicion of the partner39s suicide arpe pujari shivdas was kidnapped
COMMENT