अजय, तबु और रकुल की केमिस्ट्री मजेदार, पर फिल्म कुछ ज्यादा लंबी

Jodhpur News - \"प्या र का पंचनामा\' और \"सोनू के टीटू की स्वीटी\' जैसी फिल्में डायरेक्ट कर चुके लव रंजन अब नई फिल्म के साथ बॉक्स ऑफिस पर...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:11 AM IST
Bap News - rajasthan news the chemistry of ajay tabu and rakul is funny but the movie is a little too long
"प्या र का पंचनामा' और "सोनू के टीटू की स्वीटी' जैसी फिल्में डायरेक्ट कर चुके लव रंजन अब नई फिल्म के साथ बॉक्स ऑफिस पर आए हैं। हालांकि, इस बार वो फिल्म के डायरेक्टर नहीं हैं लेकिन फिल्म की कहानी उन्हीं ने लिखी है और वो ही इसके प्रोड्यूसर हैं।

फिल्म में दो नायिकाएं हैं, ऐशा (रकुल प्रीत सिंह) और मंजू (तबु)। दोनो ही स्मार्ट और समझदार हैं। कहानी लंदन में बसे 50 साल के आशीष (अजय देवगन) की है, जो बहुत अमीर है, लेकिन अकेला रहता है। वो अपनी बीवी मंजू से सेपरेटेड है। आशीष की बीवी और दो बच्चे इंडिया में उसके पेरेंट्स के साथ रहते हैं। एक दिन आशीष अपने दोस्त की शादी में ऐशा से मिलता है। दोनों में प्यार हो जाता है। आशीष का दोस्त मनोचिकित्सक राजेश (जावेद जाफरी) इस प्यार के सख्त खिलाफ है। क्योंकि, उसे लगता है कि 50 साल के आदमी को 26 साल की लड़की के साथ नहीं होना चाहिए। कपल को भी अहसास है कि लोग उन्हें जज करेंगे और सोचेंगे कि ऐशा पैसों के लिए आशीष के साथ है और आशीष हवस के कारण ऐशा के साथ है। लेकिन दोनों हकीकत में एक-दूसरे से बेहद प्यार करते हैं। फिर एक बार आशीष, ऐशा को अपनी फैमिली से मिलाने इंडिया ले जाता है और वहां खूब ड्रामा होता है। आशीष की बेटी इशिका (इनायत) और बाप (आलोक नाथ) उससे नाराज होते हैं। वहीं, आशीष का सामना सुरेश खुराना (जिमी शेरगिल) से भी होता है, जो उसकी प|ी मंजू को चाहता है।

फिल्म की कहानी अनोखी है। फिल्म के निर्देशक अकीव अली एडिटर रह चुके हैं। वो फिल्म को इंट्रेस्टिंग बनाए रखने में कामयाब होते हैं, लेकिन उन्होंने इसका सेकंड हाफ बहुत ज्यादा खींच दिया है। फिल्म में गाने भी ज्यादा हैं, जो कि कहानी की रफ्तार को प्रभावित करते हैं। हालांकि, फिल्म कई सब्जेक्ट्स जैसे तलाक, लिव-इन-रिलेशनशिप पर खुल कर बात करती है। वहीं, कहानी खुद एजिज्म और सेक्सिज्म का शिकार हो जाती है।

अजय देवगन को क्रेडिट मिलना चाहिए कि वो अपनी उम्र का किरदार स्क्रीन पर निभा रहे हैं। यह बॉलीवुड में बहुत कम देखने को मिलता है। यहां अजय की उम्र के या उनसे भी बड़े एक्टर्स अब भी तीस साल के आदमी का किरदार निभाते नजर आते हैं। अजय ने फिल्म में अपना रोल बखूबी निभाया है। रकुल प्रीत सहज हैं और उन्होंने नेचुरल परफॉर्मेंस दी है। तबु ने इस फिल्म में जबर्दस्त काम किया है। वो अपने रोल को इतने अच्छी तरह से निभाती हैं कि पूरी फिल्म को एक स्तर ऊपर ले जाती हैं। आशीष और ऐशा की लव स्टोरी से ज्यादा आपको आशीष-मंजू का रिलेशनशिप बांधे रखता है।

‘दे दे प्यार दे' ( रोमांटिक-कॉमेडी)

Áरेटिंग : *** 3.5/5

Áस्टार कास्ट : अजय देवगन, तबु, रकुल प्रीत सिंह, जिमी शेरगिल और जावेद जाफरी

Áडायरेक्टर : अकीव अली

Áप्रोड्यूसर : भूषण कुमार, कृष्ण कुमार, लव रंजन और अंकुर गर्ग

Áम्यूजिक : अमाल मलिक, रोचक कोहली

Áड्यूरेशन : 135 मिनट

देखें या नहीं... फिल्म कुछ लंबी है, लेकिन मनोरंजक है इसलिए इसे देखा जा सकता है।

X
Bap News - rajasthan news the chemistry of ajay tabu and rakul is funny but the movie is a little too long
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना