ओला के मालिक 3 साल तक पत्नी को मनाते रहे- टैक्सी नहीं ओला से चलें**

Jodhpur News - डेढ़ साल से यूके में है ओला... जुलाई 2019 में ओला को पंद्रह महीने का यूके में लाइसेंस मिला था। ओला पिछले डेढ़ साल से...

Feb 15, 2020, 09:26 AM IST
Jodhpur News - rajasthan news the owner of ola kept celebrating his wife for 3 years walk by taxi not ola

डेढ़ साल से यूके में है ओला...

जुलाई 2019 में ओला को पंद्रह महीने का यूके में लाइसेंस मिला था। ओला पिछले डेढ़ साल से यूके के 28 शहरों में काम कर रही है। ओला ने फरवरी 2018 में ऑस्ट्रेलिया के पर्थ से अपना बिज़नेस शुरू किया था। इसके बाद न्यूजीलैंड और फिर यूके में अपनी सेवाएं शुरू कीं। ओला ने बीते साल जापान के सॉफ्ट बैंक ग्रुप से 1.1 अरब डॉलर (7.6 हजार करोड़ रुपए) लगाने का ऑफर ठुकरा दिया था। भाविश कंपनी में अपना अधिकार बनाए रखना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने सॉफ्टबैंक के 7.6 हजार करोड़ रुपए लेने से इनकार कर दिया था।

वर्क-लाइफ बैलेंस में विश्वास रखते हैं...

भाविश फिटनेस का खासा ध्यान रखते हैं। रोज़ाना स्कवॉश खेलने के साथ हफ्ते में दो बार साइकिलिंग करते हैं। वह नो शुगर डाइट का कड़ाई से पालन करते हैं। उनकी प|ी राजलक्ष्मी ने एक इंटरव्यू में बताया कि वह रोज़ाना उनके लिए डिब्बा पैक करके देती हैं, ताकि उन्हें बाहर से कुछ भी खाने और मंगाने की ज़रूरत ही ना पड़े। राजलक्ष्मी को कुत्तों से बेहद लगाव है। हर रविवार को दोनों अपने डॉग्स के साथ पार्क में घूमने जाते हैं और उसके बाद पैट-फ्रेंडली रेस्तरां में नाश्ता करते हैं। भाविश अच्छे फोटोग्राफर भी हैं। खाली समय में तस्वीरें खींचना पसंद करते हैं।

जन्म- 28 अगस्त 1985

शिक्षा- बीटेक, सीएस (आईआईटी बॉम्बे)

कुल संपत्ति- 3100 करोड़ रुएए

प|ी- राजलक्ष्मी

देश की सबसे बड़ी कैब उपलब्ध कराने वाली कंपनी ‘ओला’ 2010 में शुरू हुई। भाविश अग्रवाल और उनके पार्टनर और आईआईटी बॉम्बे से ही पोस्ट ग्रैजुएट अंकित भाटी ने शुरुआत में इसे हॉलिडे ट्रिप उपलब्ध कराने वाली सर्विस के रूप में शुरू किया। एक साल बाद ही उन्होंने इसे रेंटल कार सर्विस के रूप में शुरू किया। शुरुआत में भाविश को अपनी प|ी राजलक्ष्मी को भी ओला इस्तेमाल करने के लिए मनाना पड़ा था। राजलक्ष्मी मुंबई की टैक्सी इस्तेमाल करने के लिए तैयार थीं, लेकिन ओला इस्तेमाल करने के लिए तैयार नहीं थीं। उनके परिवार वाले भी भाविश के निर्णय से बहुत हद तक सहमत नहीं थे। लुधियाना में रहने वाले भा‌ि‌वश के परिवार में जब उनके ड्राइवर ने नौकरी छोड़कर ओला से जुड़ने के लिए कार खरीदी, तब जाकर उनकी मां ने ओला का एप अपने मोबाइल में डाउनलोड किया और अपने बेटे के काम पर भरोसा हुआ।

भाविश लुधियाना में पैदा हुए। उनके पिता डॉक्टर हैं। परिवार के साथ वह कुछ समय तक अफगानिस्तान और यूके में भी रहे। इंजीनियरिंग में एडमिशन के लिए उन्होंने कोटा में कोचिंग की और आईआईटी बॉम्बे में उन्हें प्रवेश मिल गया। ग्रैजुएशन के बाद वह तीन महीने माइक्रोसॉफ्ट इंडिया में रिसर्च इंटर्न रहे। इसके बाद दो साल माइक्रोसॉफ्ट रिसर्च इंडिया में असिस्टेंट रिसर्चर थे। इस दौरान उन्होंने दो पेटेंट हासिल किए और उनके रिसर्च पेपर इंटरनेशनल जर्नल्स में भी प्रकाशित हुए।

भाविश को ओला शुरू करने का आइडिया एक यात्रा के दौरान आया। वह बेंगलुरु से बांदीपुर किराए की कार में ट्रैवल कर रहे थे। बीच रास्ते में मैसूर में ड्राइवर ने गाड़ी रोककर और पैसे देने की मांग की। मना करने पर उसने सफर वहीं रोकने की धमकी दी। उसके खराब बर्ताव की वजह से भाविश को कार छोड़कर बाकी की यात्रा बस से करनी पड़ी। इस घटना के बाद भाविश ने कैब कंपनी बनाने का फैसला किया। एक इंटरव्यू में भाविश कहते हैं कि जब मैंने शुरुआत की तो मेरे माता-पिता सोच रहे थे कि मैं ट्रैवल एजेंट बनने जा रहा हूं। उन्हें समझा पाना काफी मुश्किल था, लेकिन जब ओला कैब्स को पहली फंडिंग हासिल हुई तो मेरे स्टार्टअप पर उन्हें भरोसा हुआ। 2012 में भाविश और उनके पार्टनर अंकित ने ओला फोन पर ऑन डिमांड कार सेवा शुरू की थी। शुरुआत में ड्राइवर्स को ओला के साथ जुड़ने के लिए मनाना मुश्किल था। इसके लिए वह अपनी गर्लफ्रेंड (राजलक्ष्मी) की कार लेकर जाते और फिर किसी को पिक और ड्रॉप करके ड्राइवर्स को फायदे गिनाते। शुरुआत में वह दिन में 12 घंटे तक मेहनत करते।

न्यूज़मेकर भाविश अग्रवाल  क्योंकि इनकी कैब सर्विस कंपनी ओला ने हाल ही में लंदन में अपनी सेवाएं शुरू की है। भाविश ओला के सह-संस्थापक और कार्यकारी निदेशक हैं।
**

X
Jodhpur News - rajasthan news the owner of ola kept celebrating his wife for 3 years walk by taxi not ola

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना