महामारी और हर तरह की परेशानियों से बचने के लिए करें देवी कालरात्रि की पूजा

Jodhpur News - नवरात्रा का सातवां दिन आज जोधपुर | नवरात्रा में सातवें दिन देवी कालरात्रि की पूजा की जाती है। ये देवी दुर्गा...

Mar 31, 2020, 07:56 AM IST

}नवरात्रा का सातवां दिन आज

जोधपुर | नवरात्रा में सातवें दिन देवी कालरात्रि की पूजा की जाती है। ये देवी दुर्गा के क्रोध से प्रकट हुई थीं, इसलिए रोग, महामारी और हर तरह की परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए देवी के इस स्वरूप की पूजा की जाती है। देवी के इसी स्वरूप की पूजा करने से दुश्मनों पर भी जीत मिलती है। इस दिन चौकी पर माता कालरात्रि की तस्वीर स्थापित कर गंगाजल या गोमूत्र से शुद्धिकरण करें। चौकी पर चांदी, तांबे या मिट्टी के घड़े में जल भर नारियल रख कलश स्थापना करें। चौकी पर श्रीगणेश, वरुण, नवग्रह, षोडश मातृका यानी 16 देवियां, सप्त घृत मातृका यानी सात सिंदूर की बिंदी लगाकर स्थापना भी करें। फिर व्रत, पूजन का संकल्प लें और माता कालरात्रि सहित समस्त स्थापित देवताओं की पूजा करें। पूजा सामग्री में वस्त्र, सौभाग्य सूत्र, चंदन, रोली, हल्दी, सिंदूर, दुर्वा, बिल्वपत्र, आभूषण, फूलों का हार, सुगंधित द्रव्य, धूप-दीप, नैवेद्य, फल, दक्षिणा के रूप में कुछ पैसे भी रख सकते हैं। फिर कालरात्रि पूजा मंत्र ‘एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता। लम्बोष्ठी कर्णिकाकर्णी तैलाभ्यक्तशरीरिणी॥ वामपादोल्लसल्लोहलताकण्टक भूषणा। वर्धन्मूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयंकरी॥’ का जाप करें और आरती कर प्रसाद बांटें।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना