ऑपरेशन थंडर / देशभर से 387 दलाल पकड़े, गलत तरीके से कंफर्म हुए 50 हजार लोगों के टिकट रद्द



यूपी के मुगलसराय में छापे के दौरान पकड़े गए दलाल। यूपी के मुगलसराय में छापे के दौरान पकड़े गए दलाल।
X
यूपी के मुगलसराय में छापे के दौरान पकड़े गए दलाल।यूपी के मुगलसराय में छापे के दौरान पकड़े गए दलाल।

  • 16 जोन के 205 शहरों में अारपीएफ के छापे, 375 केस दर्ज 
  • 3.79 करोड़ रु. के टिकटों कालाबाजारी सामने आई

Dainik Bhaskar

Jun 15, 2019, 12:49 PM IST

नई दिल्ली/कोटा/जोधपुर. गलत तरीके से ट्रेनाें की कंफर्म टिकट बुक करने वाले दलालाें पर आरपीएफ ने गुरुवार रात अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की। ऑपरेशन थंडर के तहत रेलवे के 16 जोन में 205 शहरों में दलालों पर छापेमारी की गई। दलालों से 37 लाख रुपए के 22,253 टिकट बरामद हुए हैं। इन टिकटाें पर अगले 7 दिन में करीब 50 हजार लोगों काे सफर करना था। आरपीएफ ने 375 केस दर्ज कर 387 दलालों काे गिरफ्तार किया है।

 

दलालों के हिसाब-किताब की जांच में पता चला कि पिछले दिनाें में इन्होंने करीब 3.79 करोड़ के टिकट कालाबाजारी से बेचे थे। जिन आईडी से ये टिकट बनाते थे, उन्हें बंद करके 37 लाख रुपए के टिकट रद्द कर दिए गए हैं। कार्रवाई के दाैरान कई दलाल दुकान तक छोड़कर भाग गए थे। दलाल लाेगाें से 200 से लेकर 5000 रुपए तक कमीशन लेते थे। जिन शहरों में छापेमारी हुई उनमें भोपाल, जबलपुर, भागलपुर, जयपुर, अंबाला और दिल्ली प्रमुख हैं।

 

दलालों पर 500 एक्सपर्ट्स की नजर थी 
आरपीएफ के करीब 500 एक्सपर्ट पिछले 6 माह से गलत तरीके से कन्फर्म टिकट बुक करने वाले दलालों पर नजर रखे हुए थे। आरपीएफ के आईजी अरुण कुमार ने बताया कि पिछले साल नवंबर में भी ऐसी कार्रवाई की गई थी। सभी संदिग्ध दलालों पर दिसंबर से नजर रखनी शुरू कर दी गई। ऑपरेशन थंडर चलाने के लिए वह शहर चुने गए, जहां अधिक संख्या में ट्रेन से लोग सफर करते हैं। 

 

नाम बदलकर आईडी बनाई, पर पेमेंट गेट से पकड़े गए
साइबर टीम पहले पकड़े गए दलालों के पेमेंट गेट काे लगातार ट्रेस कर रही थी। यह दलाल छूटने के बाद भले ही दूसरे नाम से यूजर आईडी बना लें, पर पेमेंट गेट वही रहता है। इसी आधार पर इनके पूरे नेटवर्क को ट्रैक किया जा रहा था। राजस्थान में पकड़े गए दलाल टिकट बुक कराने के लिए लाल मिर्ची नाम का एक साॅफ्टवेयर इस्तेमाल करते थे। इसकी मदद से वे पहले से सवारियों की डिटेल्स कम्प्यूटर में फीड कर लेते थे। रिजर्वेशन खुलते ही इसकी मदद से तुरंत कंफर्म टिकट बुक हो जाता था। मुंबई से खरीदे जा रहे इस साॅफ्टवेयर से एक साथ कई टिकट बुक करने की सुविधा है।

 

सबसे ज्यादा 5,435 टिकट ईस्ट सेंट्रल रेलवे में पकड़े

पूरे देश में पकड़े गए 387 दलालों में से ईस्ट सेंट्रल रेलवे के 50 दलालों से सर्वाधिक 5,435 टिकट बरामद किए गए हैं। इसके बाद नॉर्थ सेंट्रल रेलवे के 25 दलालों से 3,655, सेंट्रल रेलवे के 35 दलालों से 3,515, ईस्ट सेंट्रल रेलवे के 17 दलालों से 2,082 व वेस्ट सेंट्रल रेलवे के 14 दलालों से 2,073 टिकट सहित कुल 22 हजार 253 टिकट सीज किए गए हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना