एलडीसी भर्ती / परिणाम और उत्तर-कुंजी को हाईकोर्ट में चुनौती, चार विवादित प्रश्नों के बोनस अंकों के लिए याचिका



राजस्थान हाईकोर्ट। राजस्थान हाईकोर्ट।
X
राजस्थान हाईकोर्ट।राजस्थान हाईकोर्ट।

  • आरएसएमएसएसबी को 22 मई तक जवाब पेश करने की मोहलत

Dainik Bhaskar

May 17, 2019, 12:32 PM IST

जोधपुर. राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड (आरएसएमएसएसबी) की लिपिक ग्रेड-द्वितीय/कनिष्ठ सहायक संयुक्त सीधी भर्ती परीक्षा, 2018 के परिणाम और उत्तर-कुंजी को राजस्थान हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है। जिस पर उच्च न्यायालय की एकलपीठ के न्यायाधीश अरुण भंसाली ने राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड को जवाब पेश करने के लिए 22 मई तक की मोहलत दी है। आरएसएमएसएसबी ने इस भर्ती को लेकर उच्च न्यायालय में पहले से ही केविएट दाखिल कर रखा है।
 
जालोर जिले के सेरना गांव निवासी दूदाराम मेघवाल की ओर से अधिवक्ता रजाक के. हैदर ने रिट याचिका दायर कर एलडीसी भर्ती में जारी उत्तर-कुंजी में चार विवादित प्रश्नों के आधार पर सात मार्च को घोषित परिणाम को रद्द करते हुए संशोधित परिणाम जारी करने का अनुरोध किया है। याचिकाकर्ता ने कहा कि बोर्ड ने उत्तर-कुंजी पर अभ्यर्थियों से सशुल्क आपत्तियां मांगी थी। जिस पर याचिकाकर्ता ने निर्धारित शुल्क अदा कर ऑनलाइन आपत्तियां दर्ज करवाई थी। इसके बावजूद बोर्ड ने आपत्तियों को नजरअंदाज कर विवादित प्रश्नों को बिना डिलीट किए ही सात मार्च को परिणाम जारी कर दिया, जो कि त्रुटिपूर्ण है। याचिकाकर्ता केवल 1.68 अंकों से अगले चरण के लिए अपात्र घोषित किया गया है। जबकि एलडीसी भर्ती के प्रथम प्रश्न पत्र में तीन और द्वितीय प्रश्न पत्र में एक प्रश्न के उत्तर को लेकर उत्तर-कुंजी और अन्य प्रमाणिक पुस्तकों में विरोधाभास है। गलत उत्तरों को सही मानकर मूल्यांकन करते हुए याचिकाकर्ता को अपात्र घोषित करना अनुचित और मनमानापूर्ण होने के साथ विधिविरुद्ध भी है। 
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना