बजरी का खेल / स्पेशल टीम ने बासनी में डंपर पकड़ा, दो चेतक टीम को मंडोर में गच्चा दे बालू बिखेर भागे बदमाश

Dainik Bhaskar

May 16, 2019, 12:53 AM IST



भदवासिया पुल के पास बिखरी बजरी को हटाते कर्मचारी। भदवासिया पुल के पास बिखरी बजरी को हटाते कर्मचारी।
X
भदवासिया पुल के पास बिखरी बजरी को हटाते कर्मचारी।भदवासिया पुल के पास बिखरी बजरी को हटाते कर्मचारी।

  • बजरी की बंधी के मामले सामने आने के बाद अब पुलिस बेलगाम माफियाओं पर नकेल की कोशिश में
  • झालामंड में छद्म निगरानी करती पुलिस डंपर व चालक को पकड़ने में सफल रही

जोधपुर. बजरी माफिया पर नकेल कसने की कोशिश में पुलिस जुटी है। पुलिस टीम ने बुधवार अलसुबह करीब 6 बजे कंट्रोल रूम से मिली सूचना के आधार पर बजरी से भरे डंपर का पीछा किया, लेकिन बदमाश चालक तेजी से वाहन चलाते हुए बीच सड़क पर बजरी बिखेर वहां से भाग निकला। हालांकि इस डंपर के आगे एस्कॉर्ट करने वाले बाइक सवार तीन बदमाशों में से पुलिस ने एक को गिरफ्तार किया है। दूसरी अोर पुलिस आयुक्त बीजू जॉर्ज जोसफ के निर्देश पर गठित विशेष टीम ने एक डंपर जब्त कर इसके चालक को गिरफ्तार किया है।

 

उल्लेखनीय है कि गत दिनों बजरी माफिया से साठगांठ और मंथली बंधी का खुलासा होने के बाद पुलिस कमिश्नर ने सोमवार को ही बजरी माफिया पर नकेल कसने के लिए विशेष टीम गठित की थी। इसी बीच बुधवार सुबह मंडोर थाने की चेतक टीम को पुलिस कंट्रोल ने सूचना दी कि बजरी से भरा एक डंपर थाना क्षेत्र से गुजर रहा है। इस पर चेतक टीम ने उसका पीछा शुरू किया, तो डंपर के चालक ने गाड़ी तेजी से दौड़ाई। रास्ते में डंपर चालक ने बीच सड़क पर चलती गाड़ी से बजरी बिखेर दी और डंपर भगा ले गया। मंडोर थानाधिकारी मनोज राणा ने बताया कि उस डंपर को एस्कॉर्ट कर रही बाइक पर सवार तीन बदमाशों में से भोपालगढ़ के मामडोली निवासी राजूराम जाट पुत्र करनाराम को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार किया है। जबकि उसके दो साथी भाग निकले।

 

पुलिस कंट्रोल रूम से सूचना मिलते ही मंडोर चेतक की गाड़ी अवैध बजरी से भरे डंपर का पीछा करने लगी। वहीं वायरलैस मैसेज के आधार पर उदयमंदिर व महामंदिर थाना की चेतक भी मुस्तैद हो गई। इसके साथ ही डंपर के भागने वाले इलाकों के थानों की चेतक टीम ने भी नाकाबंदी कर डंपर का पीछा करने या उसे रोकने की तैयारी कर ली, लेकिन शातिर डंपर चालक ने मुख्य सड़क पर बजरी बिखेरने के बाद शहरी क्षेत्र में घुसने की बजाय दूसरे रास्तों पर गाड़ी दौड़ा दी।

 

बजरी माफियाओं पर अंकुश लगाने के लिए गठित विशेष टीम के एडिशनल डीसीपी वीराराम की अगुवाई में एसीपी (साइबर क्राइम यूनिट) मदनसिंह की टीम बुधवार झालामंड चौराहा के आसपास छद्म रूप से निगरानी कर रही थी। सुबह साढ़े आठ बजे बजरी से भरा डंपर अमृतादेवी सर्किल की तरफ भागता नजर आया। टीम ने पीछा किया तो डंपर चालक ने गाड़ी कृष्णा नगर की तरफ दौड़ाई। स्पेशल टीम ने बासनी थाने की टीम को भी सूचना देकर पीछा जारी रखा। रास्ते में डंपर के चालक ने बजरी सड़क पर बिखेरने की कोशिश की, लेकिन वो इसमें पूरी तरह सफल हो पाता, उससे पहले ही उसे रोक लिया। इस संबंध में बासनी थाने में दर्ज प्रकरण में पुलिस ने गुढ़ा विश्नोइयान निवासी डंपर चालक ओमप्रकाश विश्नोई को गिरफ्तार किया है।

 

उधर, रिकॉल नोटिस के बाद भी नहीं लौटे सीआई व हैड कांस्टेबल
पुलिस आयुक्त बीजू जाॅर्ज जोसफ ने बताया कि थाने से नदारद इंस्पेक्टर संजय बोथरा और हैड कांस्टेबल तेजाराम के नाम फ़र्स्ट रिकॉल नोटिस जारी किए गए थे। इनके वापस उपस्थित होने की स्थिति में भी वापसी दर्ज कर इन्हें पुलिस लाइन में आमद के निर्देश पुलिस की फोर्स ब्रांच, कार्यवाहक एसएचओ सहित अन्य अधिकारियों को दिए गए हैं। तय समय सीमा में उपस्थित नहीं होने और नोटिस का जवाब नहीं देने पर इन्हें चार्जशीट दी जाएगी। 

 

बोथरा की प्रॉपर्टी की जानकारी मिली
डीआईजी (एसीबी) सवाईसिंह गोदारा ने बताया कि बासनी थाने के एसआई गजेंद्रसिंह के घूस लेते गिरफ्तारी के मामले की जांच एएसपी (एसीबी जोधपुर ग्रामीण) भाेपालसिंह लखावत कर रहे हैं। एसीबी की एक टीम इन अधिकारियों के आय से अधिक संपत्ति के बारे में भी गहनता से पड़ताल कर रही है। सूत्रों के अनुसार एसीबी को कई सूचनाएं मिली हैं, जिनमें दोनों अफसरों की बेनामी प्रोपर्टी की जानकारी है। एसीबी सूत्रों के अनुसार बोथरा के बीकानेर मेडिकल कॉलेज के सामने एक मॉल, मेडिकल शाॅप अाैर करीब 5 कराेड़ रु. के भूखंड की जानकारी भी है। एसीबी इसकी पुष्टि के प्रयास कर रही है।

 

उधर, लूणी में पुलिस की स्पेशल टीम व खनन विभाग ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए बजरी का अवैध खनन कर रही जेसीबी जब्त की है। हालांकि यहां भी चालक पुलिस की पकड़ में नहीं आया। 

COMMENT