--Advertisement--

छात्रसंघ / जेएनवीयू: तनाव के बीच रात 2 बजे एनएसयूआई के सुनील चौधरी 9 वोटों से अध्यक्ष निर्वाचित



Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 09:41 AM IST

जोधपुर/जयपुर 
छात्रसंघ चुनाव के परिणाम जारी हो गए। राजस्थान विश्वविद्यालय सहित पांच विवि में निर्दलीय प्रत्याशी अध्यक्ष पद पर जीते हैं। एबीवीपी चार विवि में जीती हैं, जबकि एनएसयूआई सिर्फ जोधपुर और अलवर में में जीत दर्ज करा सकी है।

 

जोधपुर में भारी जद्दोजहद के बाद रात 2 बजे एनएसयूआई के सुनील चौधरी महज 9 वोटों के अंतर से अध्यक्ष निर्वाचित हुए। उन्होंने एबीवीपी के मूलसिंह राठौड़ को हराया। इससे पहले करीबी मुकाबला होने के पुन: मतगणना हुई।
 

पहले चौधरी 39 वोटों से जीतते दिखे तो राठौड़ ने रिजेक्ट मतों को गणना में शामिल करने की मांग उठाते हुए पुन: मतगणना की मांग की। इस पर फिर से मतगणना शुरू हुई। इधर, सुनील चौधरी के समर्थकों ने रात 9 बजे बाद हालांकि जश्न मनाना शुरू कर दिया, लेकिन असली जश्न 2 बजे बाद ही शुरू हुआ। इससे पहले दोनों के समर्थक सड़कों पर आ जुटे।

 

आधी रात से पुलिस सड़कों पर दीवार बनकर खड़ी हो गई। अरोड़ा सर्किल पर एनएसयूआई समर्थकों का तो हॉस्टल नंबर तीन और पावटा क्षेत्र में एबीवीपी समर्थकों का भारी जमावड़ा हो गया। पुलिस सभी इलाकों पर नजर रखे हुए थी।

 

 

4 विवि में एबीवीपी, दो में एनएसयूआई, 5 में निर्दलीय का कब्जा 
जोधपुर। आधी रात को हॉस्टल नंबर तीन के बाहर पुलिस का भारी जाब्ता तैनात किया गया। यहां छात्रों ने जमकर नारेबाजी की। 
 

छात्रसंघ चुनाव परिणाम और कांग्रेस-भाजपा के लिए तीन सबक 
सही टिकट वितरण 
चुनाव में टिकट का ही अहम रोल होता है। छात्रसंघ चुनाव में यह सिद्ध भी हो गया। यही नतीजा रहा कि टिकट से दरकिनार किए गए बागी प्रत्याशियों ने राजस्थान यूनिवर्सिटी सहित अन्य विश्वविद्यालयों में जीत दर्ज करा दी और छात्र संगठन हार गए। 

 

जातीय समीकरण खारिज 
दोनों दलों ने अध्यक्ष पद के लिए एक जाति विशेष को ही उम्मीदवार बनाया। लेकिन परिणाम बिलकुल उलट आया। छात्रों ने जाति से ऊपर उठकर निर्दलीय उम्मीदवार को अध्यक्ष पद पर बिठा दिया। चुनावों में धन-बल भी नहीं चला। 

 

ग्राउंड कनेक्ट 
जीत का यह भी बड़ा मंत्र है। जो प्रत्याशी जीते हैं, उनका ग्राउंड कनेक्ट मजबूत था। छात्रों के बीच उनकी लोकप्रियता इस कारण थी कि वह कई महीनों से छात्रों के बीच वर्किंग कर रहे थे। इसी का नतीजा रहा कि परिणाम पक्ष में आया। 
 

चार विश्वविद्यालयों में निर्दलीय अध्यक्ष 
राजस्थान यूनिवर्सिटी : विनोद जाखड़ निर्दलीय अध्यक्ष 
महाराजा गंगासिंह विवि : सीमा राजपुरोहित निर्दलीय अध्यक्ष 
वेटरनरी विश्वविद्यालय : दिनेश कुमार पूनिया निर्दलीय अध्यक्ष 
कृषि विश्वविद्यालय : सुनील कुमार बुरड़क निर्दलीय अध्यक्ष 
कोटा यूनिवर्सिटी : चंद्रशेखर नागर निर्दलीय अध्यक्ष 
...और अलवर में एनएसयूआई | राजर्षि भर्तृहरि मत्स्य विश्वविद्यालय - सुमंत चावड़ा, एनएसयूआई 


एबीवीपी यहां 
भरतपुर: महाराजा सूरजमल बृज विवि - दिनेश भातरा, एबीवीपी 
जयपुर : जगद्गुरु रामानंदाचार्य राजस्थान संस्कृत विश्वविद्यालय मदाऊ - मुकेश उपाध्याय, एबीवीपी 
उदयपुर : मोहनलाल सुखाड़िया यूनिवर्सिटी हिमांशु बागड़ी, एबीवीपी 
अजमेर : एमडीएस यूनिवर्सिटी - लोकेश गोदारा, एबीवीपी

--Advertisement--