जोधपुर

--Advertisement--

एयरफोर्स स्टेशन पर लैंडिंग के दौरान सुखोई-30 एमकेआई का टायर फटा, डेढ़ घंटे रनवे बंद होने से तीन फ्लाइट प्रभावित

लड़ाकू विमान का टायर फटने के बाद रनवे क्षतिग्रस्त, दिल्ली-मुंबई से आने वाली चार फ्लाइट लेट

Dainik Bhaskar

Aug 10, 2018, 06:57 AM IST
सिम्बोलिक इमेज सिम्बोलिक इमेज

जोधपुर. जोधपुर एयरफोर्स स्टेशन पर गुरुवार दोपहर साढ़े बारह बजे नियमित अभ्यास उड़ान के दौरान लड़ाकू विमान सुखोई 30 एमकेआई का पिछला टायर फट गया। विमान की स्पीड तुरंत ही नियंत्रित करने से बड़ा हादसा टल गया। टायर फटने के कारण सुखोई रनवे पर ही खड़ा रहा। हालांकि इससे बड़ा हादसा टल गया।

एयरफोर्स की रेस्क्यू टीम तुरंत मौके पर पहुंची, पायलट व विमान को नुकसान नहीं हुआ। टायर रगड़ने के दौरान रनवे का कुछ हिस्सा क्षतिग्रस्त हुआ, जिसे ठीक कर दिया गया। करीब डेढ़ घंटे तक रनवे बंद होने के कारण मुंबई व दिल्ली से जोधपुर आने वाली तीन फ्लाइट दो घंटे तक लेट हुई। एक फ्लाइट ने पंद्रह से बीस मिनट तक हवा में चक्कर लगाए, इसके बाद लैंडिंग कराई गई। इसके चलते जोधपुर एयरपोर्ट पर यात्रियों का परेशानी का सामना करना पड़ा। रक्षा प्रवक्ता कर्नल सोम्बित घोष का कहना है कि लैंडिंग के दौरान एक लड़ाकू विमान का टायर फट गया था, इसके चलते रनवे को एयरफोर्स ने कंट्रोल में लिया था।

रनवे को छूते ही एक टायर फट गया: नियमित उड़ान के लिए सुखोई 30 एमकेआई जोधपुर एयरबेस से उड़ा था। दोपहर करीब 12:20 बजे ये विमान लैंडिंग के लिए रनवे की ओर बढ़ रहा था। लैंडिंग के लिए जैसे ही पिछले टायरों ने रनवे को छुआ तो एक टायर फट गया। विमान की उस समय 180 किमी प्रति घंटा की स्पीड थी। टायर फटते ही पायलट ने सूझबूझ दिखाई और उसका संतुलन बिगड़ने नहीं दिया। स्पीड को कंट्रोल में किया और विमान रगड़ता हुआ आगे बढ़ा। टायर के रगड़ने से एक बार तो रनवे पर चिंगारिया दिख रही थीं।

घटना के बाद इमरजेंसी, रनवे बंद किया: पायलट ने विमान को रनवे पर रोक दिया, इस बीच एटीसी ने अलार्म बजाकर इमरजेंसी घोषित की। तुरंत ही फायर ब्रिगेड व रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंच गई। पायलट भी विमान से बाहर आ गया। इसके बाद रनवे बंद कर दिया गया। दोपहर साढ़े बारह से करीब दो बजे तक रनवे बंद रहा। इसके बाद टेक्निकल टीम ने विमान का टायर बदला और विमान की प्रारंभिक जांच की। फिर विमान को स्क्वाड्रन में भेज दिया गया। दोबारा रनवे की जांच की गई, इसके बाद रनवे शुरू करने की इजाजत मिली। दोपहर दो बजे सिविल फ्लाइट फिर से शुरू कर दी गई।

इन सिविल फ्लाइट पर पड़ा असर:

जेट एयरवेज: 9 डब्ल्यू 688, दिल्ली से जोधपुर, शिड्यूल टाइम: 11:45 बजे। ये फ्लाइट सवा दो घंटे देरी से दोपहर 2 बजे जोधपुर पहुंची। ये देरी से दिल्ली से उड़ी।
जेट एयरवेज: 9 डब्ल्यू 729, दिल्ली से जोधपुर, शिड्यूल टाइम: 2.15 बजे। ये फ्लाइट एक घंटे देरी से दोपहर 3:15 बजे जोधपुर पहुंची। हादसे के कारण इस फ्लाइट को पहले ही दिल्ली में रोका गया।
जेट एयरवेज : 9 डब्ल्यू 412, मुंबई से जोधपुर, शिड्यूल टाइम: दोपहर 1:20 बजे। ये फ्लाइट 27 मिनट देरी से पहुंची। जोधपुर पहुंचने के बाद करीब बीस मिनट हवा में रही।
एयर इंडिया : एआई 475, दिल्ली से जोधपुर, शिड्यूल टाइम: 2:35 बजे। ये फ्लाइट एक घंटे देरी से दोपहर 3:35 बजे जोधपुर पहुंची। हादसे के कारण ये फ्लाइट भी देरी से दिल्ली से उड़ी।

एयरपोर्ट पर इंतजार करते रहे यात्री: एयर इंडिया की मुंबई से आने वाली फ्लाइट दोपहर बारह बजे लैंडिंग के बाद एप्रिन में पहुंच गई थी। इसके आधे घंटे बाद विमान का टायर फटा। इसके चलते ये विमान भी डेढ़ घंटे तक वापस मुंबई नहीं जा सका। विमान दोपहर पौने दो बजे उड़ा। इसमें मुंबई जाने वाले यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। वहीं एयरपोर्ट के सिक्युरिटी एरिया में यात्रियों की भीड़ लगी रही।

X
सिम्बोलिक इमेजसिम्बोलिक इमेज
Click to listen..