मौसम / तितली चक्रवात नहीं पहुंचेगा राजस्थान, लुबन सऊदी की ओर बढ़ा

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2018, 06:24 AM IST



सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।
X
सिम्बॉलिक इमेज।सिम्बॉलिक इमेज।

  • देश में एक साथ सक्रिय हुए दो चक्रवातों से प्रदेश को खतरा नहीं
  • गुरूवार को आंध्रा व उड़ीसा तट से टकराने के बाद 'तितली' नर्म

जोधपुर. देश में एक साथ सक्रिय हुए दो चक्रवाती तूफानों से राजस्थान को कोई खतरा नहीं है। मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी की तरफ से सक्रिय हुआ चक्रवाती तूफान तितली तो राजस्थान तक पहुंच ही नहीं पाएगा। वहीं, अरब सागर की ओर से गुजरात व राजस्थान की तरफ बढ़ने वाला चक्रवाती तूफान लुबन भी सऊदी अरब की तरफ बढ़ने लगा है। इससे राजस्थान में इस चक्रवात के खतरे से राहत मिल गई है।

 

बंगाल की खाड़ी में बन रहे दबाव के कारण 3 दिन पहले चक्रवाती तूफान तितली ने आहट दी थी। यह चक्रवात बंगाल की खाड़ी से उड़ीसा व आंध्रप्रदेश की तरफ बढ़ा और काफी तबाही मचाई। तितली ने बुधवार को प्रचंड रूप ले लिया था। मौसम विभाग के अनुसार प्रभावित क्षेत्रों में गुरुवार तक 130 किलोमीटर की रफ्तार से हवाएं चलीं। गुरुवार को यह चक्रवाती तूफान आंध्रा व उड़ीसा के तट पर रहा, लेकिन अब इसकी गति कम होने लगी है।

 

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार यह चक्रवात मध्यप्रदेश की तरफ बढ़ रहा है, लेकिन वहां पहुंचने से पहले ही कमजोर हो जाएगा। मध्यप्रदेश के कुछ हिस्सों में मामूली असर दिखेगा, लेकिन यह राजस्थान में बिल्कुल असर नहीं होगा। ये चक्रवात अरब सागर में बनता तथा गुजरात की तरफ बढ़ता तो राजस्थान में भी असर डाल सकता था। 

 

केरल के पास से उठा लुबन : वहीं दूसरी ओर अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान लुबन का रुख भी अब सऊदी अरब की तरफ होने से राजस्थान व गुजरात को राहत मिली है। वैज्ञानिकों के अनुसार अरब सागर से उठे इस तूफान का असर केरल के निकट अरब सागर के क्षेत्रों में शुरू हुआ था। यह उत्तर-पश्चिमी दिशा में बढ़ने लगा तो गुजरात व राजस्थान की तरफ आने की आशंका बनी, लेकिन हाल ही में इसका रुख सऊदी अरब की ओर हो गया। इस साइक्लोन का भी राजस्थान पर अब कोई असर नहीं होगा। 

 

तितली नाम पाक, लुबन ओमान ने दिया : सार्क देशों के आपसी एमओयू के अनुसार हर बार साइक्लोन का नाम तय करने के लिए एक देश को जिम्मा सौंपा जाता है। ये नाम एडवांस में दिए जाते हैं तथा आने वाले हर चक्रवात का नाम पहले से ही तय होता है। इस बार तितली नाम पाकिस्तान तथा लुबन नाम ओमान ने दिया है।

 

राजस्थान के लिए ज्यादा खतरा लुबन पैदा कर सकता था। यह चक्रवाती तूफान अब सऊदी अरब की तरफ बढ़ चुका है। वहीं तितली तो राजस्थान तक पहुंच ही नहीं पाएगा। - डॉ. डीपी दुबे, मौसम वैज्ञानिक

 

COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543