लूणी नदी / दो साल बाद मुस्कराई मरुगंगा, बालोतरा में देर रात आठ फीट तक पहुंचा जल स्तर



बालोतरा में बहती लूणी नदी को देखने लोग उमड़ पड़े। बालोतरा में बहती लूणी नदी को देखने लोग उमड़ पड़े।
X
बालोतरा में बहती लूणी नदी को देखने लोग उमड़ पड़े।बालोतरा में बहती लूणी नदी को देखने लोग उमड़ पड़े।

  • पश्चिमी राजस्थान की सबसे बड़ी नदी है लूणी

Dainik Bhaskar

Aug 19, 2019, 12:01 PM IST

बालोतरा. थार की मरू गंगा के नाम से विख्यात लूणी नदी का पानी रविवार को बालोतरा शहर के छतरियों का मोर्चा तक पहुंच गया। खुशखबरी मिलते ही शहर के लोग नदी का पानी देखने पहुंचे। दो साल बाद लूणी का पानी बालोतरा पहुंचने पर पूजा-अर्चना के साथ जलोत्सव मनाया। दोपहर तक बीओटी पुल पर पानी चादर चलने लगी। शाम तक नदी के किनारे लागों की भीड़ रही। 


बीओटी पुल से ट्रेफिक बंद कर दिया। मेगा हाइवे का रुट भी डायवर्ट किया गया। नदी में पानी का भराव 6 फीट था। पीछे से पानी की आवक बढ़ने के बाद रात 12 बजे नदी का भराव 8 फीट हो गया। सुकड़ी, बांडी समेत कई नदियों का पानी लूणी में मिलने से जलभराव लगातार बढ़ रहा है। देर रात तक लूणी का पानी सिणधरी क्षेत्र में पहुंच गया। 


5 नदियों के पानी से बढ़ा लूणी का जलस्तर 
पाली, जोधपुर में बारिश के अलावा बांडी, सुकड़ी, जोजरी, जवाई व बांडी नदी का पानी पहुंचने से लूणी में जलभराव अचानक बढ़ने लगा। पीछे से जलस्तर लगातार बढ़ने के कारण लूनी में 8 फीट पानी का भराव हो गया। सोमवार को जलस्तर बढ़ने की संभावना है। 


अजमेर उद्घगम स्थल, रण में विलुप्त होती 
लूणी नदी अजमेर से निकल कर दक्षिण-पश्चिम राजस्थान नागौर, जोधपुर, पाली, बाड़मेर, जालोर जिलों से बहती हुई गुजरात के कच्छ के रण में विलुप्त हो जाती है। नदी की कुल लंबाई 495 किमी है, जबकि राजस्थान में इसकी लंबाई 330 किमी है।  
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना