• Home
  • Rajasthan News
  • Kama News
  • आठ मार्च को होगा कामां प्रधान की कुर्सी का निर्णय, प्रस्ताव पारित हुआ तो रचना बन सकती है प्रधान
--Advertisement--

आठ मार्च को होगा कामां प्रधान की कुर्सी का निर्णय, प्रस्ताव पारित हुआ तो रचना बन सकती है प्रधान

भरतपुर| कामां पंचायत समिति प्रधान कमलेश की कुर्सी का निर्णय आठ मार्च को ही होगा। क्योंकि राजस्थान उच्चतम...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 05:35 AM IST
भरतपुर| कामां पंचायत समिति प्रधान कमलेश की कुर्सी का निर्णय आठ मार्च को ही होगा। क्योंकि राजस्थान उच्चतम न्यायालय की एकलपीठ ने पूर्व में पेश अविश्वास प्रस्ताव को निरस्त मान लिया है। उस अविश्वास प्रस्ताव को पेश करने वालों में से दो सदस्यों ने फर्जी हस्ताक्षर करने का आरोप लगाते हुए प्रधान कमलेश के खिलाफ याचिका दायर की थी। न्यायालय ने यह मान लिया है कि उस अविश्वास प्रस्ताव के दौरान दोनों ही सदस्य मौजूद नहीं थी। इसलिए उसमें कोई भी कार्रवाई नहीं की जा सकती है। जबकि दूसरी बार जो अविश्वास प्रस्ताव पेश किया गया है। उसमें तारीख तय करने के लिए जिला परिषद स्वतंत्र है। अब निर्णय की प्रति मिलने के तुरंत बाद ही जिला परिषद ने अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा करने के लिए आठ मार्च की तारीख तय कर दी है। इसके लिए कामां एसडीएम को भी अधिकृत कर दिया है। सीईओ सीआर मीणा ने बताया कि अगर उस दिन अविश्वास प्रस्ताव पारित हो जाता है तो निर्णय की प्रति व रिपोर्ट राज्य सरकार को भेजी जाएगी। जहां से प्रधान को हटाने का निर्णय तुरंत हो जाएगा। इसके बाद छह महीने के अंदर प्रधान के पद चुनाव कराए जाएंगे।

18 व 7 सदस्यों के बीच कुर्सी का निर्णय

कामां विधायक व प्रधान कमलेश के बीच लड़ाई नवंबर से ही हो रही है। क्योंकि उपप्रधान ने सीएम से प्रधान के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत की थी। तभी से दोनों के बीच विवाद चल रहा है। विधायक की भी मानने से प्रधान ने इनकार कर दिया था। यहां तक कि विधायक के निजी सचिव की भी पिटाई कर दी गई थी। अब विधायक गुट के पास 18 और प्रधान गुट के पास सात सदस्य हैं। अविश्वास प्रस्ताव पारित कराने के लिए 18 सदस्यों की ही आवश्यकता है। ऐसे में रचना कुमारी का नाम प्रधान पद के लिए विधायक गुट में सुनने को मिल रहा है। क्योंकि सीट भी एससी की है। इसलिए भाजपा की ही प्रधान को हटाकर उसी पार्टी की प्रधान बनाने की तैयारी अब पूरी हो चुकी है।