--Advertisement--

विद्यार्थियों ने तकनीकी शिक्षा से जुड़े प्रोजेक्ट बनाए

करेड़ा | आज के आधुनिक युग में तकनीकी शिक्षा का महत्व है। इससे व्यक्ति नई तकनीक से व्यवसाय कर परिवार, समाज तथा...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 05:00 AM IST
विद्यार्थियों ने तकनीकी शिक्षा से जुड़े प्रोजेक्ट बनाए
करेड़ा | आज के आधुनिक युग में तकनीकी शिक्षा का महत्व है। इससे व्यक्ति नई तकनीक से व्यवसाय कर परिवार, समाज तथा राष्ट्र का नाम रोशन कर सकें। यह बात पूर्व खनिज मंत्री व डेयरी चेयरमैन रामलाल जाट ने कही।

वे रविवार को करेड़ा वर्द्धमान आईटीआई द्वारा आयोजित स्कॉलरशिप परीक्षा के पुरस्कार वितरण समारोह में बोल रहे थे। मुख्य अतिथि सहाड़ा-रायपुर के पूर्व विधायक कैलाश त्रिवेदी थे। उन्होंने कहा कि आज के युग में बालक और बालिकाएं दोनों को तकनीकी शिक्षा का ज्ञान होना आवश्यक है। परिवार का सही रूप से पालन पोषण करने के लिए पति-प|ी का शिक्षित होना जरूरी है। विशिष्ट अतिथि लालचंद, प्यार चंद झंवर, गोपाल कृष्ण महात्मा, गणपत झंवर, कल्याण सिंह चुंडावत थे। वर्द्धमान आईटीआई के निदेशक प्रदीप श्रोत्रिय ने बताया कि स्कॉलरशिप परीक्षा में क्षेत्र के 3000 विद्यार्थियों ने दो स्तर की परीक्षा में भाग लिया। जिसमें दोनों स्तर के 10-10 विद्यार्थियों को पारितोषिक दिया गया। प्रथम स्तर में जगदीश सालवी प्रथम रहे। प्रकाश नाथ योगी द्वितीय व कमलेश कुमार तेली तृतीय रहे। द्वितीय स्तर के परिणामों में प्रथम राधा कंवर राठौड़ रहीं। किशन लाल गाडरी द्वितीय रहे। जिन्हें मुख्य अतिथि कैलाश त्रिवेदी तथा तथा भीलवाड़ा डेयरी चेयरमैन रामलाल जाट ने पुरस्कार दिए। समारोह का शुभारंभ अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। छात्रों ने तकनीकी शिक्षा के कई नए प्रोजेक्ट बनाए। इस अवसर पर कन्हैया लाल टांक, रिंकू सोनी, लालू राम कुमावत, कैलाश चंद्र सोनी, सत्यनारायण श्रोत्रिय आदि उपस्थित थे।

समारोह

करेड़ा में विजेता छात्रों को अतिथियों ने स्कॉलरशिप दी, 3000 विद्यार्थियों ने दी परीक्षा

करेड़ा | आज के आधुनिक युग में तकनीकी शिक्षा का महत्व है। इससे व्यक्ति नई तकनीक से व्यवसाय कर परिवार, समाज तथा राष्ट्र का नाम रोशन कर सकें। यह बात पूर्व खनिज मंत्री व डेयरी चेयरमैन रामलाल जाट ने कही।

वे रविवार को करेड़ा वर्द्धमान आईटीआई द्वारा आयोजित स्कॉलरशिप परीक्षा के पुरस्कार वितरण समारोह में बोल रहे थे। मुख्य अतिथि सहाड़ा-रायपुर के पूर्व विधायक कैलाश त्रिवेदी थे। उन्होंने कहा कि आज के युग में बालक और बालिकाएं दोनों को तकनीकी शिक्षा का ज्ञान होना आवश्यक है। परिवार का सही रूप से पालन पोषण करने के लिए पति-प|ी का शिक्षित होना जरूरी है। विशिष्ट अतिथि लालचंद, प्यार चंद झंवर, गोपाल कृष्ण महात्मा, गणपत झंवर, कल्याण सिंह चुंडावत थे। वर्द्धमान आईटीआई के निदेशक प्रदीप श्रोत्रिय ने बताया कि स्कॉलरशिप परीक्षा में क्षेत्र के 3000 विद्यार्थियों ने दो स्तर की परीक्षा में भाग लिया। जिसमें दोनों स्तर के 10-10 विद्यार्थियों को पारितोषिक दिया गया। प्रथम स्तर में जगदीश सालवी प्रथम रहे। प्रकाश नाथ योगी द्वितीय व कमलेश कुमार तेली तृतीय रहे। द्वितीय स्तर के परिणामों में प्रथम राधा कंवर राठौड़ रहीं। किशन लाल गाडरी द्वितीय रहे। जिन्हें मुख्य अतिथि कैलाश त्रिवेदी तथा तथा भीलवाड़ा डेयरी चेयरमैन रामलाल जाट ने पुरस्कार दिए। समारोह का शुभारंभ अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। छात्रों ने तकनीकी शिक्षा के कई नए प्रोजेक्ट बनाए। इस अवसर पर कन्हैया लाल टांक, रिंकू सोनी, लालू राम कुमावत, कैलाश चंद्र सोनी, सत्यनारायण श्रोत्रिय आदि उपस्थित थे।

X
विद्यार्थियों ने तकनीकी शिक्षा से जुड़े प्रोजेक्ट बनाए
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..